Latest Newsराम मंदिर

Muslim girls Picture of Shri Ram : मुस्लिम छात्राओं ने अपने हाथों पर मेहंदी से बनवाई भगवान राम की तस्वीर, तो मौलाना हुए गुस्सा, पहुंचे थाने

मुजफ्फरनगर में स्थित श्री राम कॉलेज में मुस्लिम छात्राओं ने अपने हाथों पर श्री राम की तस्वीर मेहंदी से बनवाई है जिसके बाद अब यह मामला विवादित हो गया है। केंद्रीय राज्य मंत्री संजीव बालियान ने कहा की छात्राओं को स्वतंत्रता है कि वह चाहे जैसी मेहंदी लगवाई क्योंकि देश में लोकतंत्र है कुछ मौलानाओं का काम ही सवाल खड़े करना है लेकिन उनकी बातों का जवाब देना मैं उचित नहीं समझता।

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर जनपद में स्थित श्री राम कॉलेज में मुस्लिम छात्राओं ने अपने हाथों पर मेहंदी से श्री राम की तस्वीर बनवाई है जिसके बाद इस मामले में अब विवाद शुरू हो गया है जिसके चलते लोग इसे धर्म विरोधी बताते हुए जमीयत ए उलेमा हिन्द ने इसकी शिकायत आलाधिकारियों से करते हुए कॉलेज के विरुद्ध इस मामले में कार्रवाई की मांग की थी. इसके बाद अब अधिकारियों का कहना है कि इस मामले की जांच को नई मंडी को सौंप गई है और जांच में जो भी तथ्य सामने आएंगे किसी के आधार पर आगे की कार्यवाही की जाएगी।
आपको बता दे की 22 जनवरी को अयोध्या में श्री राम मंदिर में प्राण प्रतिष्ठा होने जा रही है जिसके चलते सरकार के आदेश है कि सभी स्कूल कॉलेज में श्री राम से संबंधित कार्यक्रम किए जाएंगे।

इसी क्रम में मुज़फ़्फ़रनगर जनपद में स्थित श्री राम कॉलेज में भी मंगलवार को मेहंदी प्रतियोगिता का कार्यक्रम आयोजित किया गया। इसमें कुछ मुस्लिम छात्राओं ने अपने हाथों पर श्रीराम की तस्वीर बनाकर मेहंदी लगाई थी जिसकी वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रही है .इसके बाद इस मामले में जमीयत उलेमा ए हिन्द ने इसका विरोध करते हुए पुलिस अधिकारियों से इसकी शिकायत की थी. जिसके चलते पुलिस ने अब इस मामले में अपनी जाँच शुरू कर दी है.

मेहंदी लगाने को लेकर पुलिस में शिकायत दर्ज कराई गई है इस मामले में जानकारी देते हुए एसपी सिटी सत्यनारायण प्रजापत ने बताया कि मुजफ्फरनगर में नई मंडी थाना क्षेत्र स्थित एक कॉलेज में कुछ छात्राओं को मेहंदी लगाने को लेकर एक विवाद संज्ञान में आया है. इसके संबंध में जमीयत उलेमा के अधिकारियों ने शिकायत दर्ज कराई है एवं स्पार्करण की जाँच क्षेत्राधिकार नई मंडी को दी गई है.

ये भी पढें  Ramayan Sita B grade movies : जाने क्यों करनी पड़ी थी रामायण की सीता को बी ग्रेड फिल्में भोजपुरी समेत 8 भाषाओं में की फिल्में

इसमें जांच के अनुरूप जो भी तथ्य प्रकाश में आएंगे उनके अनुरूप कार्रवाई की जाएगी.

इस शिकायत के दर्ज होने के बाद राज्य मंत्री संजीव बालियान ने कहा है कि इन मौलानाओं को तो काम ही सवाल खड़े करना है लेकिन मैं उनकी बातों का जवाब देना उचित नहीं समझता छात्रों को स्वतंत्रता है कि वह चाहे जैसी मेहंदी लगवाई क्योंकि यह देश में लोकतंत्र है अगर किसी की इच्छा है तो उसमें किसी मौलाना को कोई अधिकार नहीं है कि वे इस तरह की बात करें. इसमें कोई जांच नहीं होगी; यह बच्चों की इच्छा है.