Latest Newsराम मंदिर

Arun Govil in Ramayana : सिर्फ एक मुस्कराहट से डायरेक्टर ने दे दिया था राम का रोल, आज अगर राम बोले तो सिर्फ सिर्फ एक चेहरा ही सामने आता है।

अरुण गोविल को टीवी के राम के तौर पर जाना जाता है उन्होंने इस सीरियल से इस कदर पहचान बनाई कि यह शो शुरू होकर खत्म भी हो गया लेकिन लोग उन्हें आज भी भगवान राम का दर्जा देते हैं। लोग आज भी उनके पैर छूकर इनसे आशीर्वाद लेते हैं लेकिन क्या आप जानते हैं कि अरुण गोविल को यह रोल कैसे मिला था?

View this post on Instagram

A post shared by The Sheikhpura (@thesheikhpura)

अरुण गोविल ने अपने टीवी करियर में कई टीवी शोज और फिल्मों में काम किया लेकिन उन्हें जो पहचान आज से 33 साल पहले 1987 में आई रामानंद सागर की रामायण में काम करके मिली वह शायद ही कभी किसी को मिली हो। यह सीरियल तो पॉपुलर हुआ था ही लेकिन इसके साथ इसका हर कैरेक्टर भी जगह-जगह फेमस हो गया था।इस शो में भगवान राम का किरदार निभाने वाले अरुण गोविल की सादगी को लोगों ने इतना पसंद किया कि वह आज भी लोगों के दिलों में राज करते हैं।

ये भी पढें  Ram Mandir : हुआ फिर अजूबा प्राण प्रतिस्ठा के दान में मिला सोने का झाड़ू, भक्त बोल रहे मंदिर में इसी से करे सफाई।

इस शो को टेलीकास्ट होने के बाद वो हर तरफ टीवी के राम के तौर पर छा गए थे. उनको लेकर लोगों के बीच इस कदर का क्रेज हो गया था कि अगर वो कहीं जाते थे तो लोग उनके पैर भी छूते थे. लेकिन क्या आप ये जानते हैं कि उन्हें ये रोल कैसे मिला था.

बताया जाता है कि राम के किरदार के लिए अरुण गोविल ने ऑडिशन दिया था तो पहले उन्हें रिजेक्ट कर दिया गया था क्योंकि वह उसे समय स्मोकिंग किया करते थे और इसी वजह से रामानंद सागर की वह पसंद नहीं बन पाए क्योंकि रामानंद सागर का मानना था कि ऐसे शख्स को राम का रोल कैसे दे दे। हालांकि फिर अपनी मुस्कुराहट की वजह से अरुण गोविल को यह रोल मिल ही गया.

ये भी पढें  Ramayan Sita B grade movies : जाने क्यों करनी पड़ी थी रामायण की सीता को बी ग्रेड फिल्में भोजपुरी समेत 8 भाषाओं में की फिल्में

बताया जाता है कि जब वह ऑडिशन में रिजेक्ट हो गए उसके बाद सूरज बड़जात्या ने उनसे कहा कि वो अपने मुस्कुराहट का इस्तेमाल करें. जब लुक टेस्ट हुआ तो रामानंद सागर को उनकी मुस्कुराहट इस कदर पसंद आई कि उन्होंने उन्हें राम के रोल में लेने का फाइनल कर लिया. अरुण गोविल ने उन्हें इस बात का भी यकीन दिलाया था कि वो सिगरेट को हाथ नहीं लगाएंगे और फिर उन्होंने स्मोकिंग छोड़ दी और फिर अपने इस रोल के जरिए वो हर किसी के दिल में बस गए.