AmazingIndia News

कपल ने खरीदा 1850 का घर, फर्श के नीचे छुपा था बड़ा राज, लकड़ी हटाते ही दिखा ‘दूसरी दुनिया’ का रास्ता !

अमेरिका के मेन (Maine, USA) में रहने वाली 46 साल की जैनिस सैंटिनी (Janice Santini) और उनके 44 साल के पति क्रिस्टोफर (Christopher) ने 1850 में बना एक घरनुमा होटल खरीदा। वह यहां पर अपना वर्क प्लेस बनाना चाहते थे पर उन्हें अपने घर में एक ऐसी चीज नजर आई कि उनके होश उड़ गए। लोगों को आजकल विंटेज यानी कि पुराने जमाने की चीज खरीदना बेहद पसंद होता है और वह इसे मुंह मांगे दम पर खरीद भी लेते हैं।

इसी वजह से बहुत से लोग पुराने घरों को खरीदने के भी शौकीन होते हैं। वह अपने हिसाब से इसे रिनोवेट करवा लेते हैं और फिर इसे अलग लुक दे देते हैं। ऐसा ही किया एक अमेरिका के कपल ने उन्होंने 1850 के समय का एक घर खरीदा और उसे घर के फर्श के नीचे एक ऐसी चीज दिखाई दी जिसके बाद वह हैरान हो गए। वहां एक सुरंग मिली जिसे देखकर ऐसा लग रहा था कि वह दूसरी दुनिया में जाने का रास्ता है। पर असल में वह अमेरिका अंडरग्राउंड रेलरोड से जुड़ी हुई सुरंग थी.

रिपोर्ट के मुताबिक अमेरिका के मेन (Maine, USA) में रहने वाली 46 साल की जैनिस सैंटिनी (Janice Santini) और उनके 44 साल के पति क्रिस्टोफर (Christopher) ने 1850 में बना एक घरनुमा होटल खरीदा. घर की फर्श लकड़ी की बनी थी. एक बार उन्होंने जैसे ही उसे फर्श को हटाया उन्होंने उसके नीचे एक लंबी सुरंग देखी जो पत्थरों से बनी हुई थी। कपल ने इसको लेकर तय किया कि वह इस खूबसूरत सी सुरंग को बनाए रखेंगे क्योंकि यह इतिहास का हिस्सा है।

उन्होंने इस सुरंग का नाम वेल ऑफ फॉरगिवनेस रखा है. कपल का कहना है कि उन्होंने इस सुरंग को देखा उन्हें बाद में समझ में आया कि यह बहुत बहुमूल्य चीज है। अब वह घर में आए मेहमानों को इस दिखती हैं।
कपल का कहना है कि यह सुरंग करीब 6 मीटर गहरी है जब उनका यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तो लोगों ने सुरंग को प्रिजर्व करने के तरीके के बारे में उनकी तारीफ की जेनस ने कहा कि वह घर की उसे सुरंग को इस वजह से सुरक्षित रखना चाहती है क्योंकि वह अमेरिकी अंडरग्राउंड रेल रोड से जुड़ी है।

ये भी पढें  Anant-Radhika Pre Wedding : 'झिंगाट' पर थिरकीं जान्हवी-रिहाना, अनंत-राधिका के प्री वेडिंग फंक्शन में लूटी महफिल

जैनिस ने बताया कि यह ग्लास कवर है इस इस तरह से डिजाइन किया गया है कि वो 600 पाउंड (200 किलो से ज्यादा) तक का वजन उठा सकता है और उसे लगाने में 2.9 लाख रुपये का खर्च आया है. पत्थरों को जोड़े रखने के लिए उन्होंने उसमें फिर से सीमेंट-मोरटार लगाया है और अंदर लाइटें लगा दी हैं.