Love Crime

Up Latest News : एक लड़की का दिल आया अपनी ही सहेली पर, 2 साल बाद की शादी, अब रह रही हैं ऐसे

जैसा कि सभी देख रहे हैं कि अब देश में समलैंगिक विवाह लगातार बढ़ते ही जा रहे हैं और आए दिन कोई न कोई ऐसा किस्सा जरूर ऐसा देखने को मिल जाता है। जिसमें इस तरह के मामले सुनने को मिलते हैं। आए दिन इंटरनेट और अखबारों में ऐसी खबरें जरूर मिल जाती हैं। यूपी की दो सहेलियां इन दिनों चर्चा में बनी हुई है।काफी समय से एक साथ रहने के बाद उन्होंने जीवन का एक ऐसा फैसला लिया है जिसके बाद उनकी लाइफ पूरी तरह से बदल गई है। 2 साल तक एक साथ रहने के बाद अब यह दोनों आपस में शादी कर रही हैं। आईए जानते हैं क्या है इसका कारण

बताया जा रहा है कि यूपी के देवरिया में दो लड़कियों ने आपस में शादी कर ली है। देवरिया के चनुकी में स्थित आर्केस्ट्रा में काम करने वाली 2 लड़कियों ने समलैंगिक विवाह कर लिया। ये दोनों लड़कियां 2 साल से एक दूसरे के साथ पति-पत्नी की तरह रहती थीं। दोनों लड़कियों ने मझौली राज में स्थित भगड़ा भवानी मंदिर में एक दूसरे के साथ शादी रचाई।

ये भी पढें  Extramarital Affair : चचेरी सास का दिल आया अपने ही दामाद पर और फिर कर दिया यह कांड, अब हर जगह हो रही है थू थू

यह दोनों लड़कियां पश्चिम बंगाल के रहने वाली है। एक लड़की का नाम जय श्री राउल है जिसकी उम्र 28 साल है। वह विशाल लक्ष्मीपुर साउथ 24 परगना वेस्ट बंगाल की रहने वाली है। वहीं दूसरी लड़की का नाम राखी दास है, जिसकी उम्र 23 साल है। वह अक्षयनगर रिफ्यूजी कालोनी साउथ 24 परगना वेस्ट बंगाल की रहने वाली है।

दोनों लड़कियां पश्चिम बंगाल से एक साथ आईं थीं और चनुकी में एक आर्केस्ट्रा ग्रुप में काम करती थीं। दोनों ने सलेमपुर के मझौली राज में स्थित भगड़ा भवानी मंदिर में सोमवार को एक दूसरे के साथ शादी रचाई। बताया जा रहा है कि दोनों ने शादी मंदिर में की है और सारे हिंदू रीति रिवाज को पूरी तरह से ध्यान में रखते हुए पंडित ने शादी करवाई है ।

ये भी पढें  Love affair news : नोएडा में मां बेटी की सच्चाई आई सामने, लड़कों को फंसा कर करती थी यह काम पुलिस ने अब लगाई लताड़

लार थाना क्षेत्र के मठ वार्ड के भेड़िया टोला के रहने वाले मुन्ना पाल लार ब्लॉक के चनुकी बाजार में आर्केस्ट्रा चलाते हैं। उनके आर्केस्ट्रा में ये दो युवतियां करीब 3 साल से डांस करती हैं। डांस के दौरान ही इन दोनों लड़कियों में दोस्ती हो गई और फिर इनकी दोस्ती प्यार में बदल गई। इसके बाद दोनों ने एक साथ जीने मरने की कसमे भी खाली।

बताया जा रहा है कि 30 दिसंबर को आर्केस्ट्रा संचालक और उनके कुछ साथी मझौली राज के दुर्गेश्वर नाथ मंदिर पहुंचे और दोनों युवतियों की शादी करने की बात कही लेकिन मंदिर के महंत जगन्नाथ महाराज ने उच्च अधिकारियों की अनुमति न होने की वजह से उन्हें वहां से वापस लौटा दिया।उसके बाद मायूस होकर सभी लोग वापस लौट गए और भाटपाररानी तहसील जाकर दोनों ने शादी के लिए स्टांप पेपर खरीदा।