India Newsधार्मिक

Maha Shivratri 2024 : जाने महाशिवरात्रि के पीछे की पौराणिक कथा, आखिर क्यों मनाया जाता है यह त्योहार?

महाशिवरात्रि हिंदुओं का एक पवित्र त्यौहार है और इसके पीछे कई सारी धार्मिक मान्यताएं भी हैं। ऐसा कहा जाता है कि इस दिन भगवान शिव और माता पार्वती के विवाह उत्सव के रूप में मनाया जाता है। इस दिन भगवान शिव के भक्त व्रत रखते हैं और मंदिर जाते है।

शिवरात्रि क्यों मनाई जाती है इसके पीछे भी कई कारण बताए जाते हैं। प्राचीन मान्यताओं के अनुसार शिवरात्रि के दिन भगवान शिव और माता पार्वती ने विवाह किया था। इसी खुशी में भगवान शिव के भक्त शिवरात्रि का त्यौहार मनाते हैं। हिंदू कैलेंडर के अनुसार शिवरात्रि महाशिवरात्रि फागुन माह के कृष्ण पक्ष की चतुर्थी तिथि को मनाई जाती है। रोमन कैलेण्डर के अनुसार महाशिवरात्रि हर साल फरवरी या मार्च के महीने में मनाई जाती है।

View this post on Instagram

A post shared by Anupam Amlendu (@anupamlendu)

पौराणिक कथा
महाशिवरात्रि के पीछे एक पौराणिक कथा भी है। कहा जाता है कि माता पार्वती ने भगवान शिव को पाने के लिए कठोर तप किया था। माता पार्वती की कठोर तपस्या से भगवान शिव प्रसन्न हो गए थे और उन्हें दर्शन दिया था। भगवान शिव ने पार्वती से खुश होकर उनसे वर मांगने के लिए कहा था। तब माता पार्वती ने भगवान शिव को पति के रूप में पानी का वरदान मांगा था।

भगवान शिव ने उन्हें पति रूप में स्वीकार कर लिया और इस प्रकार माता पार्वती का विवाह भगवान शिव से हो गया। जिस रात भगवान शिव की माता पार्वती से शादी हुई वह फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी तिथि की रात थी। इसी खुशी में हर साल फाल्गुन कृष्ण चतुर्दशी तिथि को भगवान शिव के भक्त शिवरात्रि का त्यौहार मनाते हैं।