Latest News

Ravindra Jadeja Father Controversy : रविंद्र जडेजा की पत्नी रिवाबा से जब पूछा गया ससुर के बारे में तो फूटा उनका गुस्सा बोली,” मुझसे सीधे बात करें…

Ravindra Jadeja Father Controversy: रविंद्र जडेजा और उनके पिता के बीच में काफी झगड़ा शुरू हो गया है। इस बीच पहली बार रविंद्र जडेजा की पत्नी रिवाबा जडेजा ने इस विवाद पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। उनका यह रिएक्शन अब काफी वायरल हो रहा है।

View this post on Instagram

A post shared by Zee 24 Kalak (@zee24kalak)

रविंद्र जडेजा और उनके पिता के बीच जुबानी जंग छिड़ गई है। जडेजा के ऊपर उनके पिता ने काफी गंभीर आरोप लगाए हैं वहीं उन्होंने अपनी बहू पर भी एलिगेशंस लगाए हैं। इस बीच जडेजा की पत्नी रिवाबा जडेजा का इस पूरे मामले पर पहला रिएक्शन सामने आया है. बता दें कि जडेजा के पिता ने जडेजा और उनकी वाइफ रिवाबा पर आरोप लगाते हुए कुछ दिन पहले कहा था कि शादी के बाद से जडेजा की पत्नी ने उन्हें परिवार से अलग कर दिया.

ये भी पढें  24 घंटे बिजली हर गांव मे स्कूल क्लिनिक ED कस्टडी से अरविन्द केजरीवाल ने दी 6 गारंटी।

अब इसके बाद रिवाबा ने इस पर अपना रिएक्शन दिया है आपको बता दे की जडेजा की पत्नी एक भाजपा विधायक भी हैं और हाल ही में एक कार्यक्रम में उन्होंने शिरकत की थी। इस दौरान एक रिपोर्टर ने उनसे उनके ससुर के आरोप के बारे में पूछा तो वह काफी नाराज हो गई,जब रिपोर्टर ने उनसे इस बारे में सवाल किया तो वह पहले काफी परेशान दिखाई दी। उसके बाद उन्होंने इन सवालों को सार्वजनिक तौर पर ना पूछने के लिए कहा। उन्होंने कहा यह हमारा निजी मामला है।

वायरल वीडियो में रिवाबा कहती हैं ‘आप यहां आकर मुझसे ये सवाल क्यों कर रहे हैं? अगर आपको इसके बारे में कुछ बात करनी है तो सीधे मुझे कॉन्टैक्ट कीजिए.’ आपको बता दें कि जब जडेजा के पिता ने उनपर गंभीर आरोप लगाए थे तब रवींद्र जडेजा ने कहा था कि ‘इंटरव्यू में पिता की कही गई हर बात गलत और बिना मतलब की है. उन्होंने सिर्फ एक पक्ष की बात बताई है, जिसका मैं पूरी तरह से खंडन करता हूं.’

ये भी पढें  युजवेंद्र चहल से लेकर ड्वेन ब्रावो तक, सर्वकालिक अग्रणी विकेट लेने वाले खिलाड़ी

आपको बता दे की रविंद्र जडेजा के पिता अनिरुद्ध सिंह ने उनके ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा था कि मेरे पास गांव में कुछ जमीन है। मैं अपना खर्च अपनी पत्नी की ₹20000 की पेंशन से ही चलाता हूं . मैं 2 बीएचके फ्लैट में अकेला रहता हूं. मेरे पास एक घरेलू सहायिका है जो मेरे लिए खाना बनाती है. मैं अपना जीवन अपनी शर्तों पर जी रहा हूं. मेरे पास जो 2 बीएचके फ्लैट है उसमें अभी भी रवींद्र के लिए एक अलग कमरा है, जिसको मैने उसकी यादों से सजा के रखा है.’