9 महीने से गायब महिला कांस्टेबल, वृंदावन में फूल बेचती हुई मिली,बोली – अफसरों से थी परेशान

आजकल कई ऐसी खबर सुनने में आ रहा है जिसमें महिलाएं परेशान होकर या तो आत्महत्या कर लेती है या घर छोड़कर चली जाती है . एक ऐसी कहानी फिर से सुनने को मिल रही है जहां एक महिला कॉन्स्टेबल अपने अफसरों से परेशान होकर गायब हो गई लेकिन जब उसे पुलिस ने ढूंढा तो वृंदावन के एक मंदिर के बाहर फूल बेचती हुई मिली.9 महीना पहले रायपुर की एक महिला कॉन्स्टेबल अचानक गायब हो गई थी. लेकिन अब वही महिला कॉन्स्टेबल अंजना सा है जो 10 महीना पहले गायब हो गई थी वह वृंदावन में फूल बेचती हुई मिली. अंजना ने बताया की वह अपने परिवार और अफसरो से परेशान थी इसलिए ऐसा कदम उठायी.

अंजना के वृंदावन में फूल बेचने की खबर मिलने के बाद छत्तीसगढ़ पुलिस की टीम उन्हें लेने पहुंची लेकिन अंजना ने उनके साथ जाने से साफ मना कर दिया. इसके बाद रायपुर पुलिस को वहां से खाली हाथ लौट गयी .

बता दें कि रायपुर शहर में तैनात अंजना को पुलिस विभाग ने 9 महीने पहले सीआईडी के मुख्यालय में भेज दिया था, लेकिन आंजना वहां से एकाएक गायब हो गई, पुलिस ने अंजना के बारे मे बहुत छानबीन किया लेकिन कुछ पता नहीं चला.फिर उनकी मां ने 21 अगस्त को बेटी के लापता होने की रिपोर्ट दर्ज कराई . पुलिस अंजना तक चाह कर भी नहीं पहुंच पा रही थी क्युकी उसका फ़ोन ऑफ आ रहा था.

पुलिस को बैंक से उसके एटीएम अंजना की जानकारी इकट्ठे किए और उसे ढूंढते हुए पुलिस जब उस लोकेशन पर पहुंची तो अंजना को फूल बेचते हुए देखकर काफी हैरान हो गई.

वह महिला कॉन्स्टेबल अंजना कृष्ण मंदिर के बाहर वृंदावन में फूल बेचती हुई दिखी जब पुलिस को इसकी जानकारी मिली तो पुलिस उनको लेने वृंदावन गई लेकिन अंजना ने पुलिस के साथ आने से साफ मना कर दिया. अंजना ने पुलिस से यह कहा कि ना कोई मेरा परिवार है ना कोई अपना मुझे यही रहना अच्छा लगता है और मैं यही रहूंगी.

सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार अंजना अपने सीनियर अफसरों से काफी परेशान थी और यह बात वह अपने सहयोगी से भी बताई हुई थी.

Jyoti Mishra

Leave a Comment

Recent Posts