Advertisement
Categories: Trending

निर्भया केस के दोषियों की फांसी की प्रक्रिया शुरू,एक दोषी ने दाखिल किया क्यूरेटिव पिटीशन

Advertisement

निर्भया केस के चारों दोषियों की फांसी पर लटकाए जाने की तारीख के बाद फांसी की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। वही दोषी पूरी तरह से इस बात की कोशिश कर रहे हैं कि उन्हें होने वाली फांसी पर एक बार फिर से सोचा जाए और कुछ दिनों के लिए ही सही फांसी टल जाए।

दरअसल निर्भया के दोषियों में से एक दोषी विनय कुमार शर्मा ने क्यूरेटिव पिटीशन दाखिल कर दिया है। वकील एपी सिंह ने कहा है कि उन्होंने 2017 में पवन गुप्ता की ओर से दायर एसएलपी की प्राथमिकता प्रति के लिए पटियाला हाउस कोर्ट में अर्जी दायर की है। साल 2012 के निर्भया गैंगरेप केस के दोषियों का पटियाला हाउस कोर्ट ने डेथ वारंट जारी किया है। कोर्ट ने अपने आदेश में कहा है कि इन चारों दोषियों को 12 जनवरी के दिन फांसी दी जाएगी।

लेकिन डेथ वारंट जारी होने के बाद भी कई ऐसी प्रक्रिया है जिसके तहत निर्भया केस के दोषी फांसी की तारीख आगे बढ़ाने की कोशिश कर रहे हैं। विनय कुमार शर्मा ने क्यूरेटिव पिटिशन के लिए अर्जी दाखिल भी कर दी है, जिसके बाद अगर सुप्रीम कोर्ट इस पेटीशन के लिए सुनवाई करता है और 14 दिन के अंदर इस पर फैसला नहीं आता है तो इसके बाद फांसी की तारीख आगे बढ़ा दी जा सकती है।

क्या है क्यूरेटिव पिटीशन ? What is curative petition ?

दरअसल क्यूरेटिव पिटिशन को उपचार याचिका कहते हैं।यह पूर्ण याचिका से थोड़ा अलग होता है। इसमें फैसले के जगह पूरे केस में उन मुद्दों पर ध्यान दिया जाता है जिनमें उन्हें लगता है कि ध्यान देने की जरूरत है।

Advertisement
Leave a Comment

Recent Posts

Advertisement

This website uses cookies.