UP Election Karhal News: करहल में अखिलेश यादव को बीजेपी की तरफ से एसपी सिंह बघेल देंगे चुनौती, भरा पर्चा

मैनपुरी/करहल : भाजपा ने अखिलेश यादव के खिलाफ करहल से केंद्रीय मंत्री और आगरा के सांसद एसपी सिंह बघेल को मैदान में उतारा है. दिलचस्प बात यह है कि बघेल को देश के पूर्व रक्षा मंत्री मुलायम सिंह यादव के संरक्षण में तैनात किया गया है। इससे पहले आज अखिलेश यादव ने करहल से नामांकन दाखिल किया था।

बीजेपी ने किया हैरान

पहले ऐसे संकेत थे कि अपर्णा यादव, जो हाल ही में पार्टी में शामिल हुई थीं, को अखिलेश के खिलाफ मैदान में उतारा जा सकता है। लेकिन बघेल आज अचानक और चुपचाप फॉर्म भरने पहुंचे। कांग्रेस ने ज्ञानवती यादव को और बसपा ने कुलदीप नारायण को मैदान में उतारा है.

अखिलेश ने दी थी खुली चुनौती

अखिलेश यादव ने आज नामांकन दाखिल करने के बाद कहा था कि करहल से जो कोई भी बीजेपी से बाहर आएगा उसे हार का सामना करना पड़ेगा. ऐसे में बीजेपी के इस पिछड़े कार्ड का दांव सपा मुखिया को हैरान कर सकता है. एसपी सिंह बघेल नरेंद्र मोदी सरकार में केंद्रीय कानून राज्य मंत्री हैं।

करहल विधानसभा का इतिहास

करहली में जातीय समीकरण क्या हैं

करहल विधानसभा क्षेत्र में करीब 3 लाख 71 हजार मतदाता हैं। इसमें यादव वोटरों की संख्या करीब 1 लाख 44 हजार है. यानी कुल मतदाताओं का 38 फीसदी वोट यादवों का ही है. सपा की पैठ का अंदाजा इस तरह से लगाया जा सकता है कि उसने पहले चुनाव में ही 5 में से 4 सीटों पर जीत हासिल की थी। मैनपुरी, करहल और किशनी सीटों पर यादव वोटर ज्यादा हैं, जबकि क्षत्रिय वोटर दूसरे नंबर पर हैं. भोगांव में लोधी वोटर पहले और यादव दूसरे नंबर पर हैं.

करहल विधानसभा सीट 1956 के परिसीमन के बाद सामने आई। 1957 में पहलवान नाथू सिंह यादव प्रजा सोशलिस्ट पार्टी के पहले विधायक चुने गए। इसके बाद तीन बार स्वतंत्र पार्टी के प्रत्याशी ने जीत हासिल की। अगले चुनाव में नाथू सिंह भारतीय क्रांति दल और जनता पार्टी के टिकट पर चुने गए। शिवमंगल सिंह 1980 में पहली बार कांग्रेस के टिकट पर जीते लेकिन उसके बाद जाति की हवा चलने लगी। 1980 में पराजित हुए बाबूराम लगातार पांच बार विधायक चुने गए। 1985 में वे लोक दल के टिकट पर और उसके बाद दो बार जनता पार्टी के टिकट पर और दो बार सपा के टिकट पर चुने गए। सोबरन सिंह 2002 से बीजेपी से जीते लेकिन कुछ दिनों के बाद सपा में चले गए और उसके बाद हुए तीनों चुनावों में सपा के टिकट पर जीत हासिल की।

21 लाख की इस जैकेट से सर्दी मिटाती हैं Nita Ambani इस देश में 25 की उम्र से पहले शादी जरूरी वरना दोस्त नहलाते हैं ऐसी चीज से 3 बच्चों की मां है ये बेहद हॉट बिकनी मॉडल Tammy Hembrow हॉटनेस में बहन किम कार्दशियन से कम नहीं Kendall Jenner बरेली नहीं अमेरिका में बना ऐसा ‘झुमका’ लाइट चमकने पर लोग पूछने लगते हैं ये सवाल
21 लाख की इस जैकेट से सर्दी मिटाती हैं Nita Ambani इस देश में 25 की उम्र से पहले शादी जरूरी वरना दोस्त नहलाते हैं ऐसी चीज से 3 बच्चों की मां है ये बेहद हॉट बिकनी मॉडल Tammy Hembrow हॉटनेस में बहन किम कार्दशियन से कम नहीं Kendall Jenner बरेली नहीं अमेरिका में बना ऐसा ‘झुमका’ लाइट चमकने पर लोग पूछने लगते हैं ये सवाल