इलेक्ट्रिक वाहन द्वारा डिलीवरी के लिए अनोखा इको फ्रेंडली प्रयोग

दरवाजे की घंटी बजी और हमारे सामने एक डिलीवरी ब्वॉय था।ऐसे दृश्यों से हमें कोई आश्चर्य नहीं होता। होम डिलीवरी अब एक बड़ा बिजनेस बनता जा रहा है। इसलिए इस व्यवसाय में हरित प्रौद्योगिकी का उपयोग बहुत महत्वपूर्ण है। इस दिशा में एक पहल गुजरात के एक स्टार्टअप EVIFY ने की है। EVFY ने डिलीवरी के लिए इलेक्ट्रिक व्हीकल यानी बाइक का इस्तेमाल शुरू कर दिया है।

EVFI का काम विभिन्न कंपनियों को डिलीवरी के लिए इलेक्ट्रिक व्हीकल (EVs) उपलब्ध कराना है। हालांकि, न केवल वाहन बल्कि चालक को भी प्रदान किया जाता है। मई 2022 में जारी राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण के अनुसार, देश के 50% घरों में दोपहिया वाहन है। पूरी दुनिया गर्मी से जल रही है। ग्लोबल वार्मिंग का मुख्य कारण हवा में कार्बन डाइऑक्साइड है। वाहन प्रदूषण कार्बन उत्सर्जन का एक प्रमुख कारण है। इसे नियंत्रित करने के लिए दुनिया भर में इलेक्ट्रिक व्हीकल का चलन बढ़ता जा रहा है। लेकिन परिवहन एक ऐसा क्षेत्र है जिसमें अभी तक विशेष ईवी का उपयोग नहीं किया जाता है।

परिवहन के बिना पूरी दुनिया ठप हो जाएगी। इसमें ईवी के इस्तेमाल से प्रदूषण में काफी कमी आएगी और पर्यावरण को भी फायदा होगा। इसके लिए EVIFY ने काम शुरू कर दिया है। इस तरह के ट्रांसपोर्ट सिस्टम में बाइक्स को जियोटैग किया जाता है। यानी बाइक-कार सीमित जगह से बाहर नहीं निकल सकते। मान लीजिए कि वाहन बाहर निकलने की कोशिश करता है और अपने आप रुक जाता है। भारत में इस समय एक समस्या ईवी में आग है। अभी तक आग लगने का कारण बैटरी से जुड़ा है। बैटरी मरम्मत तकनीक भी विकसित की जा रही है। भारत में, दिल्ली, मुंबई, कलकत्ता, चेन्नई जैसे शहरों में इलेक्ट्रिक वाहनों के लिए विभिन्न सुविधाएं विकसित की जा रही हैं।

वाहनों के लिए चार्जिंग स्टेशन बनाए जा रहे हैं। लेकिन छोटे शहरों में ऐसी सुविधाएं दुर्लभ हैं। ईवीएफआई उस दिशा में महत्वपूर्ण कार्य कर रहा है। भारत में शहर, जिन्हें टियर-2 के नाम से भी जाना जाता है, अब तेजी से बढ़ रहे हैं। इसलिए वहां विभिन्न पर्यावरण के अनुकूल सुविधाएं शुरू की जानी चाहिए।

Facebook Comments Box