Advertisement
Categories: Indian Army

हावड़ा एक्सप्रेस ट्रेन में सेना की दो महिला डॉक्टरों ने पेश की मिसाल रक्षा मंत्री ने कहा शाबाश

Advertisement

हमारी देश की सेना ने फिर एक मिसाल कायम की, एक तरफ हमारी भारतीय सेना देश के नागरिकों की मदद के लिए हरदम तत्पर रहती है, वहीं भारतीय सेना ने मदद की एक और नई मिसाल पेश की है। आपको बता दें कि हावड़ा एक्सप्रेस में एक गर्भवती महिला को अचानक प्रसव पीड़ा होने लगी, उसकी मदद के लिए दो महिला डॉक्टर आई और उसकी डिलीवरी करवाई, वह महिला डॉक्टर भी ट्रेन में सफर कर रही थी।

आपको बता दें कि ट्रेन कोहरे के कारण धीमी गति से चल रही थी। स्टेशन भी दूर था, स्टेशन इतना दूर था कि वहां पहुंचने का इंतजार नहीं किया जा सकता था। अगर डॉक्टरों ने जल्द कुछ ना किया होता तो जच्चा और बच्चा दोनों की जान खतरे में हो सकता था।
भारतीय सेना के एडीजी ने अपने आधिकारिक ट्वीट हैंडल पर इससे जुड़े पोस्ट शेयर किया हैं, ट्वीट में एडीजी ने कहा मां और बच्चा दोनों स्वस्थ हैं।

आपको बता दें कि हावड़ा एक्सप्रेस सुपरफास्ट ट्रेन है, जो बंगाल के हावड़ा से गुजरात में अहमदाबाद तक जाती है, सेना की इन दोनों डॉक्टरों के काम की चर्चा सोशल मीडिया पर खूब हो रही है। एडीजी पीआई का ट्वीट भी काफी वायरल हो रहा है। सेना के जिस महिला डॉक्टरों ने यह मिसाल कायम किया है,उनका नाम है, कैप्टन ललिता और कैप्टन अमनदीप, जो 172 सेना अस्पताल में कार्यरत हैं।

हावड़ा एक्सप्रेस में डिलीवरी के बाद जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ बताया जा रहे हैं। दोनों डॉक्टरों के इस अमूल्य योगदान के बारे में सेना को सोशल मीडिया के पोस्ट पर काफी तारीफ हो रही है। सेना ने उस नवजात बच्चे की भी तस्वीर शेयर कि, जो हावड़ा एक्सप्रेस में पैदा हुआ है, सेना के दोनों महिला डॉक्टरों के इस काम की चारों तरफ तारीफ हो रही है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी ट्वीट को री ट्वीट करते हुए लिखा है कि,” शाबाश कैप्टन ललिता और कैप्टन अमनदीप”आपने सच्ची प्रोफेशनलिजम पेश किया है। भारतीय सेना का मानवीय चेहरा दिखाया ।

Advertisement
Leave a Comment

Recent Posts

Advertisement

This website uses cookies.