Trending

6 बार बदलने के बाद तिरंगा बना राष्ट्रीय ध्वज,देखिए देश के पिछले 5 झंडे कैसे दिखते थे

Advertisement

हम जो तिरंगा आज फहराते हैं उसे पहले भी देश में कई बार कई तरह का झंडा फहराया गया था, जिसमे काफी बदलाव किया गया तब जाकर हमारे देश को हमारा राष्ट्रीय ध्वज तिरंगा मिला।

1. भारत का पहला झंडा 7 अगस्त उन्नीस सौ छह में कोलकाता के पारसी बागान स्क्वायर में यह सबसे पहले फहराया गया था, जिसके बाद इस झंडे को बदलने का फैसला लिया गया।

2. साल 1960 में भारत का दूसरा झंडा मैडम कामा और निर्वासित क्रांतिकारियों और उनके संगठन ने पेरिस में हराया था। हालांकि अगर गौर से देखा जाए तो यह हमारे आज के झंडे से काफी मिलता-जुलता है।

3. भारत का तीसरा झंडा साल 1917 में होम रूल मूवमेंट के दौरान इस भारतीय झंडे को डॉक्टर एनी बेसेंट और लोकमान्य तिलक ने फहराया था। गौर से देखें तो इस ध्वज के कोने में ब्रिटिश साम्राज्य का झंडा भी है।

4. भारत का चौथा झंडा तब आया जब पहले विश्वयुद्ध शुरू हुए कुछ वक्त हो गया था। भारत के इस चौथे झंडे को पिंगली वेंकैया ने देश को एकजुट करने के लिए बनाया था। जहां इस झंडे में गांधी जी के चरखा का चित्र बना है।

5. पांचवी बार देश के राष्ट्रीय झंडा को लेकर जब चर्चा शुरू हुई तो इस झंडे को भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस कमेटी की बैठक में साल 1921 को राष्ट्र ध्वज के रूप में मान्यता दे दी गई थी। हालांकि इसके बाद भी ध्वज में बदलाव किया गया।

6. भारत का चौथा और आखिरी राष्ट्रध्वज कहा जाने वाला साल 1921 में पूरी तरह से मान्यता प्राप्त थोड़े से बदलाव के बाद आजाद भारत का राष्ट्रीय ध्वज बन गया। इसमें केवल चरखा की जगह अशोक चक्र को शामिल कर लिया गया जो अभी तक हमारा राष्ट्रध्वज है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Most Popular

To Top