साल का पहला चंद्र ग्रहण 16 मई को, चंद्र ग्रहण के दिन है बुद्ध पूर्णिमा, दो संयोग बनेंगे खास

साल का पहला चंद्र ग्रहण 16 मई को लगने जा रहा है। ज्योतिषीय गणना के अनुसार यह पूर्ण चंद्र ग्रहण होगा जो भारत में दिखाई नहीं देगा। चंद्र ग्रहण के दिन बुद्ध पूर्णिमा भी आ रही है इसलिए यह एक विशेष संयोग बनता जा रहा है। ज्योतिषियों का कहना है कि अगला चंद्र ग्रहण तीनों राशियों के लिए बेहद शुभ रहने वाला है।

हिंदू कैलेंडर के अनुसार साल का पहला चंद्र ग्रहण 16 मई को लगेगा। इसी दिन प्रातः 06.16 बजे तक वरियाण योग रहेगा। इसके बाद अगले दिन 16 मई की सुबह से दोपहर करीब 2.30 बजे तक पेरिफेरल योग होगा। ज्योतिषियों का कहना है कि वरियन योग में किए गए सभी शुभ कार्य पूर्ण रूप से पूर्ण होते हैं। जबकि परिधीय योग में शत्रु के खिलाफ अपनाई गई रणनीति बहुत कारगर साबित होती है।

मेष
चंद्र ग्रहण के दौरान बन रहे दो शुभ योगों के कारण मेष राशि के जातकों पर विशेष कृपा बरसेगी। करियर के मामले में समय महत्वपूर्ण रहेगा। धन लाभ होगा। व्यापारियों के साथ-साथ नौकरीपेशा लोगों के लिए भी यह ग्रहण शुभ है। रियल एस्टेट में निवेश करने के लिए भी यह एक अच्छा समय है। पारिवारिक कोई समस्या दूर होगी। जीवनसाथी का पूरा सहयोग मिलेगा।

सिंह
सिंह राशि के लोगों को भी अगले चंद्र ग्रहण पर होने वाले संयोग से बहुत लाभ होगा। नौकरी में पदोन्नति की संभावना है। आय के नए स्रोत सामने आएंगे। कोई महत्वपूर्ण कार्य होने की संभावना है। व्यक्तिगत विकास की बहुत संभावनाएं हैं। दाम्पत्य जीवन में सुधार होगा। विवाह के प्रस्ताव भी मिल सकते हैं।

धनु
धनु राशि वालों के लिए भी यह चंद्र ग्रहण बहुत शुभ माना जाता है। तरक्की के नए रास्ते खुलेंगे। नई नौकरी मिलने के भी योग बन रहे हैं। व्यापारियों को बड़ा लाभ मिल सकता है। आर्थिक मोर्चे पर बड़ा लाभ होगा। शादी से जुड़ी कोई बातचीत तय हो सकती है। घर के सदस्यों का पूरा सहयोग।

Facebook Comments Box