सच्चे प्यार की मिसाल : अपनी प्रेमिका को जिस्मफरोशी के धंधे से निकालकर बनाई अपनी दुल्हनिया

कहते हैं सच्चे प्यार में इंसान कुछ भी कर जाता है. लोग अक्सर ऐसा भी कहते हैं कि सच्चे प्यार में बहुत ज्यादा ताकत होती है उसके लिए लोग हर हद पार कर जाते हैं. आज हम आपको एक ऐसी कहानी बताने वाले हैं जिसमें एक लड़के ने जिस्मफरोशी के धंधे से अपनी प्रेमिका को निकाल कर उसे अपनी दुल्हन बनाया.

यह मध्य प्रदेश में देखने को मिला जब यहां के रहने वाले अकाश सच्चे प्यार को पाने के लिए अपनी जान तक की परवाह नहीं किया . हर लव स्टोरी में घर वाले विलेन बनते हैं लेकिन इस प्रेमी जोड़े का विलन कोई और ही था. आकाश ने अपनी प्रेमिका से सात फेरे लेकर उससे शादी तो रचा ली और साथ ही समाज के नाम एक सकारात्मक संदेश भी दिया है. जानिए इस प्रेम कहानी के बारे में.

मध्य प्रदेश के आकाश ने बीते दिन भारती नाम की लड़की से कोर्ट में पहुंचकर शादी रचाई है जिसे देखकर हर कोई तालियां बजाकर उनकी शादी की बधाई ना दे रहा है और साथ ही आकाश के साहस की दाद दे रहा है. आकाश की प्रेमिका भारती ऐसे घर से है जहां उसके मां-बाप ने उसको पैसों के लिए वेश्यावृति के दंगल में धकेल दिया था.

Love

आपको यह जानकर हैरानी होगी कि मालवा के नीमच, मंदसौर, रतलाम जिलों के आसपास लगभग ढाई सौ ऐसे कोठे बनाए गए हैं जहां पर लड़कियां बिकना आम बात है. आकाश ने यह मन में ठान लिया था कि यदि पुलिस इस काम में उसकी मदद नहीं करेगी तो वह खुद इस बुराई को जड़ से मिटाएगा. ऐसे में उसने फ्रीडम फर्म नाम के NGO के साथ मिलकर लगभग 60 लड़कियों को बदनामी के दलदल से बाहर निकालने में मदद की.

3 साल पहले भी इस काम को करते हुए अकाश की मुलाकात भारती से हुई थी. उम्र में भारती तब काफी छोटी थी और आगे पढ़ना भी चाहती थी जबकि उसकी मां उसको बेचने के लिए तैयार थी. जैसे तैसे अकाश ने उस को बचाया और हॉस्टल पढ़ाई करने के लिए भेज दिया था लेकिन बाद में आकाश और भारती को एक दूसरे से प्यार हो गया था. दोनों ने अब शादी करके एक नई मिसाल कायम कर दी है. हालांकि आकाश के लिए यह सब करना आसान नहीं था उसने भारती को आजाद करवाने के लिए कई बार अपनी जान को खतरे में डाला था.

अकाश ने सिर्फ अपने प्रेमिका कोई नहीं बल्कि कई लड़कियों को इस जिस्मफरोशी के धंधे से बचाया और हर उस लड़के लड़की के लिए एक मिसाल कायम की जो किसी से प्यार करते हैं.

Facebook Comments Box