भारत में बनने जा रहा देश का पहला इलैक्ट्रिक हाईवे, अब 500 KM का सफर मात्र 2 घंटे में

Copy

कहते है किसी भी देश के विकास की कहानी सडके कहती हैं, सड़कों का जाल जितना अधिक फैला होता है वह देश उतना ही समद्ध समझा जाता है। सड़कों के बिना जीवन की कल्पना करना ही अपने-आप में भयावह है ऐसा करने पर हमे सड़को का महत्त्व अपने आप समझ आ जाता है। कहते है जीवन के लिए तीन चीज़ें जरूरी होती है – रोटी कपडा और मकान पर इस के बाद सबसे महत्वपूर्ण चीज है सड़क, पानी और बिजली ये तीनो ही हमारे जीवन बेहद महत्वपूर्ण स्थान रखती है। अच्छी सड़कें विकास की निशानी होती है। सड़क न होती तो एक दिन का काम एक महीने में भी न होता अर्थात सड़क की वजह से विकास तेज हुआ है ।

दुनिया भर के देश रोज नये नये आविष्कार करके तेल की निर्भरता को कम करने की कोशिश मे लगे है। सभी देश जिस के लिए इलेक्ट्रिक वाहनों के विकल्प को अपना रहे हैं। इलेक्ट्रिक हाईवे शुरू होने के बाद ट्रकें और बसें बिजली से चलेंगी इलेक्ट्रिक गाड़ियों के अलावा बस, ट्रक और रेलवे इंजन भी बिजली से चलाई जा सकती है। अधिकारियों की मानें तो इलेक्ट्रिक हाईवे शुरू होने के बाद यात्रियों का सफर काफी घंटे तक कम हो जाएगा। इसे पर्यावरण को ध्यान में रखते हुए खास तरीके से पर्यावरण अनुकुल डिजाइन किया जाता है। इस हाईवे पर पर ट्रक और बस मेट्रो की तरह ऊपर लगे इलेक्ट्रिक तार के जरिए चलेंगे जिसमें पेट्रोल डिजल की खपत कम होगी।

Electric Highway
Electric Highway

केंद्रीय सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि भारत का पहला व नवीनतम इलेक्ट्रिक हाईवे दिल्ली और जयपुर के बीच बनेगा। और इसे जल्द से जल्द बनाने का प्रयास किया जाएगा। नितिन गडकरी के मुताबिक दिल्ली व जयपुर के बीच इलेक्ट्रीक हाईवे के निर्माण के लिए एक विदेशी कंपनी के साथ बात की गई है। दिल्ली व जयपुर के बीच हाईवे के निर्माण के बाद इन दोनों शहरों के बीच की दूरी को कुछ घंटो के समय में पूरा किया जा सकेगा। और यह समय पहले लगने वाले समय के आधे से भी कम होगा।

नितिन गडकरी ने बताया की जयपुर से दिल्ली के बीच राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 8 पहले से ही स्थित है। लेकिन अब जमाना हाइटेक हो चुका है। उसके अनुरूप ही नया हाइवे बनाया जायेगा जो पूर्ण रूप से इलेक्ट्रीक होगा। नये हाइवे के निर्माण में विदेशी कम्पनियों का भी अनुभव काम लिया जायेगा क्योंकि जयपुर दिल्ली के बीच बनने वाला यह हाइवे देश का पहला ही इलेक्ट्रीक हाइवे है। गडकरी ने आगे बात करते हुए देश में और भी इलेक्ट्रीक हाइवे भविष्य में बनाने की इच्छा जताई है। इलेक्ट्रीक हाइवे के निर्माण के बाद लाखों लीटर डिजल पेट्रोल की बचत होगी तथा सरकार को भी अधिक राजस्व मिल सकेगा।

Facebook Comments Box