पटरी में फंसा बच्चे का पैर, जान बचाने के लिए उसके ऊपर लेट गई बुआ, ट्रेन से कटकर हुए 4 टुकड़े

ट्रेन हादसों में अक्सर लोगों को अपनी जान गवानी पड़ती है। इसमें कुछ खबरें बहुत इमोशनल कर देती हैं और उन खबरों से बाहर आना काफी मुश्किल हो जाता है। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद की एक घटना भी बेहद दुखद है । इस हादसे में आप बुआ के प्यार और दुलार की कहानी सुन हैरान हो जाएंगी । इस घटना में युवती अपनी जान देकर अपने भतीजे की जान बचाई है।

पटरी में फंसा बच्चे का पैर, जान बचाने के लिए उसके ऊपर लेट गई बुआ; ट्रेन से कटकर हुए 4 टुकड़े
train accident

बुआ के शरीर 4 टुकड़ों में बंट गए : पर नहीं आने दिया भतीजे पे आंच

यह घटना एक मिसाल की तरह है। मुरादाबाद में 3 साल का छोटा बच्चा रेलवे लाइन में फंस गया था। उसी वक़्त तेज रफ्तार से सामने से ट्रेन आ रही थी । जिसके बाद 20 साल की लड़की जो बच्ची कि बुआ हैं उन्होंने उसे बाहर निकालने की बहुत कोशिश की पर नाकाम रहीं। जब उसे बचाने का कोई तरीका नहीं सूझा तो वो खुद उसके ऊपर लेट गई। कुछ ही सेकंड में ट्रेन गुजर गई और युवती के शरीर के 4 टुकड़े हो गए पर बच्चे की जान बच गई।

सदमे में है परिवार

इस घटना के बाद पूरा परिवार सदमे से बाहर नहीं आ पा रहा है। एनबीटी की रिपोर्ट से पता चला कि 20 वर्षीय शशिबाला(बच्चे की बुआ) मुरादाबाद के कुंदरकी थाना क्षेत्र के हुसैनपुर गांव में रहती हैं। शादी की रस्म के बाद जब सारे लोग लौट रहे थे तभी बच्चे आरव का पैर रेलवे ट्रैक में फंस गया और तब शशिबाला ने अपनी जान देकर बच्चे कि जान बचा ली। आरव को भी थोड़ी बहुत चोट आईं है और उसका इलाज चल रहा है।

Facebook Comments Box