वो 8 मिनट जिसने US को किया शर्मसार, लोग देखते रहे,चलती ट्रेन में महिला से होता रहा रेप

अमेरिका को विश्व का सबसे ताकतवर देश माना जाता है. आ जाता है कि इन देशों में महिलाओं को पुरुषों के बराबर का दर्जा दिया जाता है और हर क्षेत्र में महिलाएं आगे बढ़ रही है. लेकिन यहां से एक ऐसी घटना सामने आई है जिसने पूरे अमेरिका को शर्मसार करके रख दिया है.

अमेरिका के फिलाडेल्फिया शहर में ऐसी घटना हुई जो पश्चिमी देशों के समाज, वहां की कानून व्यवस्था और वहां महिलाओं को मिलने वाले अधिकारों को लेकर गंभीर सवाल खड़े कर रही है. फिलाडेल्फिया में 13 अक्टूबर को एक महिला रात करीब 10 बजे अपने घर जाने के लिए एक ट्रेन में सवार हुई थी. इस ट्रेन में और भी बहुत सारे लोग थे लेकिन 35 साल का एक व्यक्ति अचानक से इस महिला के साथ वाली सीट पर आकर बैठ गया. कुछ देर तक उसने इस महिला को परेशान किया लेकिन जब वो बात करने के लिए तैयार नहीं हुई तो इस व्यक्ति ने उसके साथ अश्लील हरकतें शुरू कर दीं और इसके बाद 8 मिनट तक चलती ट्रेन में इस महिला के साथ रेप की घटना हुई.

महिला मदद की लगाती रही गुहार-

इस वारदात के समय ट्रेन में काफी लोग मौजूद थे, जो ये सब होते हुए देख रहे थे लेकिन किसी ने भी उस व्यक्ति को रोकने की कोशिश नहीं की. सोचिए 8 मिनट तक एक महिला चलती ट्रेन में मदद के लिए चीखती चिल्लाती रही, लोगों से ये कहती रही कि वो पुलिस बुलाने में उसकी मदद करें. उसने मदद के लिए लोगों के सामने हाथ भी जोड़े, लेकिन इसके बावजूद इन लोगों ने कुछ नहीं किया. इससे बड़ी कायरता क्या हो सकती है?

सर्वे से सामने आयी अलग हकीकत –

कुछ साल पहले अमेरिका में एक सर्वे हुआ था, जिसमें लोगों से ये पूछा गया था कि अगर उनके सामने किसी महिला के साथ छेड़छाड़ होती है या उसके साथ बलात्कार जैसी कोई भयानक घटना होती है तो उनकी पहली प्रतिक्रिया क्या होगी? अमेरिका के ज्यादातर लोगों का कहना था कि ऐसी स्थिति में अपराध को रोकने की जिम्मेदारी सिर्फ और सिर्फ उनकी होगी. इसलिए वो सबसे पहले उस महिला को बचाएंगे. इस सर्वे का सार ये था कि अमेरिका के लोग दूसरे देशों की तुलना में ज्यादा जागरूक, ज्यादा जिम्मेदार और ज्यादा सजग हैं. हालांकि ये इस तरह का कोई इकलौता सर्वे नहीं था. पश्चिमी देशों में इस तरह के हजारों सर्वे और रिपोर्ट्स आपको मिल जाएंगी, जो ये बताती हैं कि वहां के लोग और वहां का समाज ऐसे सभी मामलों में चैम्पियन है, लेकिन ये सच नहीं है.

क्राइम होते देखने वालों को होंगी सजा?

फिलाडेल्फिया की पुलिस ने इस मामले में बलात्कार के आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है और पुलिस को उसके खिलाफ कुछ गवाह भी मिल गए हैं. इसकी पूरी सम्भावना है कि जल्द इस आरोपी को कड़ी सजा हो जाएगी लेकिन सवाल ये उठता है कि उन लोगों का क्या होगा, जो इस घटना को चुपचाप देखते रहे? आपने मिट्टी की मूर्तियां देखी होंगी. मूर्तियों में इंसानों की परछाई तो दिखती है लेकिन उनमें संवेदनाएं नहीं होती. उनमें खून नहीं होता और वो प्रतिक्रिया नहीं दे सकती और हमें लगता है कि इस ट्रेन में बैठे लोग भी इंसान नहीं मूर्तियों के जैसे ही थे, जो कायरों की तरह अपनी सीटों पर जमे रहे. हालांकि वहां की पुलिस ने कहा है कि वो ऐसे लोगों पर केस दर्ज करने के बारे में विचार कर रही है, जिन्होंने पीड़ित की मदद नहीं की.

Facebook Comments Box