Jara Hat ke

Teddy Day History: अमेरिका का वह राष्ट्रपति जिसके एक इंकार से दुनिया में आए एक क्विट”टेडी बेयर’

हम सभी जानते हैं कि अभी वैलेंटाइंस वीक चल रहा है, वैलेंटाइन वीक का हर एक दिन बहुत ही खास होता है, वैलेंटाइन वीक का चौथा दिन टेडी बेयर डे होता है वैसे तो टेडी हर किसी को पसंद है फिर वह बच्चे हो,बड़े हो,लड़के हो या लड़कियां हो टेडी सबको पसंद है। लेकिन टेडी ज्यादातर लड़कियों को बेहद पसंद है और वह टेडी से खेलना पसंद करती हैं।और आज 10 फरवरी है और जैसा कि हम सभी जानते हैं आज डैडी का ही दिन है। टेडी एक ऐसा चीज है जिसे हम किसी को भी अगर गिफ्ट में दे वह लोग बहुत खुश होते हैं। आज के दिन हम अपने चाहने वाले को टेडी गिफ्ट कर कर उनका दिल भी जी सकते हैं। वेलेंटाइन वीक में ऐसे बहुत से दिन है जिसे आप अपने दोस्तों और करीबियों के साथ सिल्वेट कर सकते हैं.

आपको बता दें कि यह 7 दिन वेस्टर्न कल्चर की देन है हर दिन की तरह टेडी डे के पीछे भी एक खास कहानी है।यह कहानी जुड़ी है अमेरिका के राष्ट्रपति रहे रुजवेल्ट से उनका निकनेम टेडी था। हालांकि उन्हें या नाम बिल्कुल पसंद नहीं था बरहाल टेडी डे को प्रेरित करने वाली घटना हुई 14 नवंबर 1992 को.

तो चलिए आपको बताते हैं कि क्या है टेडी बेयर की कहानी?
आपको बता दें उस दिन मिसीसिपी गवर्नर के न्यूज़पेपर रुजवेल्ट शिकार पर गए थे। वहां शिकारियों की पूरी टोली थी जो जानवरों की जान लेने पर अमादी थी। काॅलियर उन्होंने एक अमेरिकन ब्लैक बियर को पकड़ा और उसे एक पेड़ से बांध दिया। रूजवेल्ट को बुलाया गया और उनसे गुजारिश की गई कि वह उस पर गोली चलाएं तत्कालीन राष्ट्रपति ने गोली चलाने से इंकार कर दिया और इसे गलत बताया। हालांकि उन्होंने कहा कि भालू को मार दिया जाए ताकि वह उसे इस टॉर्चर से मुक्ति मिले.

16 नवंबर 1902 को इसी वाक्य का एक कार्टून ड्राइंग द लायन द वाशिंगटन पोस्ट में छापा जो बेरीमेने बताया था।

आपको बता दें कि यह कार्टून पर चर्चित हुआ खिलौने बनाने वाले मॉरिस टोन ने जब यह कार्टून देखा तो उन्हें एक आईडिया आया।

फरवरी 1903 में मॉरिस ने भालू के एक छोटे बच्चे जैसा मुलायम खिलोना बनाया और रूजवेल्ट को भिजवाया। उन्होंने राष्ट्रपति से उनका निकनेम टेडी करने की इजाजत मांगी 15 फरवरी 1930 वह तारीख थी जब अपनी दुकान पर एक खिलौना रखा जिसका नाम टेडी बेयर किस टाइम पर रखा था।

या खिलौना सुपरहिट हो गया मिक टॉम ने अपनी टो एकंपनी खोलिए। अमेरिकी बच्चों के बीच इस का क्रेज पैदा हो गया और टेडी बीयर्स की सेल बढ़ती चली गई ठीक उसी वक्त जर्मन की एक कंपनी भी रिचर्ड्स टिप के डिजाइन पर टेडी बेयर वाला खिलौना बना रही थी। हालांकि 10 फरवरी को ही क्यों मनाया जाता है इसकी कोई वजह नहीं है मगर वैलेंटाइन पर रखा गया है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top