Advertisement
Categories: देश

SBI में मैच्योरिटी से पहले FD निकालने पर कितनी लगती है पेनाल्टी! जानिए इससे जुड़ी सभी बातें

जानें मैच्योरिटी से पहले FD पर कितनी लगती है पेनाल्टी

नई दिल्ली. जिदंगी में कई बार ऐसे मौके आते है जब तुरंत पैसों की जरूरत होती है ऐसे वक्त में आदमी या तो ब्याज पर पैसे ले लेते हैं या फिर अपने फिक्स डिपॉजिट (FD-Fixed Deposit) में जमा रकम को निकलवा लेते हैं. बचत के लिए FD को सबसे सुरक्षित विकल्प माना जाता है, जो 7 दिनों से लेकर 10 वर्ष तक के कार्यकाल में उपलब्ध हैं. जरुरत के समय हमें FD से पैसे तो मिल जाते हैं लेकिन मैच्योरिटी से पहले रुपए निकालने पर पेनाल्टी लगती है. आइए जानें इससे जुड़ी सभी बातों के बारे में…

समय से पहले एफडी तुड़वाने पर क्या होगा?
फिक्स्ड डिपॉजिट (एफडी), इसे टर्म डिपॉजिट (टीडीएस) भी कहा जाता है. ये फिक्स्ड-इनकम इंस्ट्रूमेंट्स हैं यानी इसमें रिटर्न की गारंटी होती है. अगर कोई मैच्योरिटी से पहले पैसे निकालता है तो उस पर पेनल्टी लगती है. हालांकि, कई बैंक इस पर कोई चार्ज नहीं वसूलते है.

फिक्स्ड डिपॉजिट दो तरह की होती है1. समय से पहले विड्रॉल (FDs with premature withdrawal)

2. समय पर विड्रॉल (FDs without premature withdrawal)

एसबीआई के मुताबिक अगर कोई ग्राहक पांच लाख तक की एफडी पर प्री-मैच्योर विड्रॉल करवाता है तो उसे सभी मैच्योरिटी पर 0.50 प्रतिशत की पेनल्टी देनी पड़ती है. इसके अलावा बैंक ने 5 लाख से ऊपर और 1 करोड़ से कम की एफडी पर एक फीसदी की पेनल्टी तय की है. आपको बता दें कि एसबीआई ने 2017 में एफडी समय से पहले ब्रेक करने पर पेनल्टी के लिए नए नियम लागू किए थे. बैंक ने एफडी कराने वाले कस्टमर्स को राहत दी थी. मार्च 2017 तक बैंक सभी तरह की एफडी पर एक फीसदी पेनल्टी लेता था.

ये भी पढ़ें : SBI अपने ग्राहकों को दे रहा खास सुविधा! अब किसी भी पते पर मंगवा सकेंगे अपनी चेक बुक

अगर SBI में समय से पहले एफडी तुड़वाई तो कितने चार्ज लगेंगे?
जवाब -ऐसे में मामलों में देश का सबसे बड़ा सरकारी बैंक SBI (State Bank of India) एफडी से पहले पैसा निकालने पर 1 फीसदी पेनल्टी वसूलता है. अगर कोई ग्राहक एफडी का प्री-मैच्योर विद्ड्रॉल करवाता है तो उसपर पेनल्टी अलग-अलग डिपॉजिट के अनुसार अलग-अलग लगेगी.


Source link

Leave a Comment
Advertisement

This website uses cookies.