34 सालों से रेखा अकेली इस शख्स के साथ जी रही है जिंदगी, जेठानी का दावा : दोनो पति पत्नी…

बॉलीवुड: हिंदी सिनेमा की खूबसूरत एक्ट्रेस रेखा को कौन नहीं जानता है. बेहतरीन एक्टिंग और दिलकश अदाओं से लोगों का दिल जीतने वाली रेखा आज भी एक्टिंग की दुनिया में राज करती हैं. रेखा की फिल्मी लाइफ जितनी चर्चा में है उतनी ही उनकी पर्सनल लाइफ भी सुर्खियों में रही है। हालांकि, सभी जानते हैं कि उनका जीवन एक पहेली की तरह है।

rekha is living alone with his person for 34 yrs
rekha


जैसा कि आप जानते हैं कि बहुत कम लोग होते हैं जो अपनी निजी जिंदगी से जुड़े सच को जानते हैं। इसी तरह सचिव फरजाना भी हैं, जो रेखा के साये में रहती हैं। जी हां, रेखा के साथ हर वक्त नजर आने वाली फरजाना के बारे में बहुत कम लोग जानते हैं। फरजाना कभी रेखा की हेयर स्टाइलिस्ट हुआ करती थीं, लेकिन आज उन्हें रेखा की आत्मा बहन कहा जाता है। आइए जानते हैं फरजाना की जिंदगी से जुड़ी कुछ अनसुनी बातें…

rekha

आपको बता दें कि रेखा ने अपने अभिनय करियर की शुरुआत 1966 में दक्षिण भारतीय फिल्म ‘रंगुला रत्नम’ से की थी। इसके बाद रेखा ने अपने करियर में ‘उमराव जान’, ‘इजात’, ‘कलयुग’ और ‘घर’ जैसी कई सुपरहिट फिल्मों में काम किया। फरजाना रेखा के साथ करीब 30 साल से हैं। कहा जाता है कि फरजाना रेखा के इतने करीब हैं कि फरजाना के अलावा कोई भी रेखा के बेडरूम में प्रवेश नहीं कर सकता। इतना ही नहीं उनके बेडरूम तक पहुंचने के लिए पहले फरजाना से इजाजत लेनी पड़ती है, उसके बाद ही वे रेखा के कमरे में पहुंच पाते हैं।

rekha

गौरतलब है कि फरजाना को लड़कियों की तरह कपड़े पहनना पसंद नहीं है, वह लड़कों की तरह हेयर स्टाइल और शर्ट पैंट पहनती हैं। इतना ही नहीं उनका हेयरस्टाइल काफी हद तक सुपरस्टार अमिताभ बच्चन से मिलता-जुलता है। गौरतलब है कि सभी जानते हैं कि सुपरस्टार अमिताभ बच्चन और रेखा का अफेयर काफी चर्चा में रहा है।

rekha

आपको बता दें कि रेखा जब भी मुसीबत में होती हैं तो फरजाना चट्टान की तरह उनके सामने खड़ी हो जाती हैं और रेखा को हर मुश्किल से निकाल लेती हैं। कहा जाता है कि रेखा फरजाना के बिना खाना भी नहीं खाती हैं। समय के साथ यह सब देखने के बाद मीडिया में ऐसी खबरें उड़ने लगीं कि फरजाना और रेखा के बीच पति-पत्नी का रिश्ता है। हालांकि जब रेखा से इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा था कि हमारे बारे में जो कुछ भी फैलाया जा रहा है वह लोगों की गलत सोच की उपज है।