पीएम मोदी बोले- ‘जब लोग हमारा गला पकड़ते थे.. कहते थे कुछ तो करो…’

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी का कहना है कि उनकी सरकार ने बहुत सराहनीय काम किए हैं । मोदी जी कहते हैं कि उनके सरकार के राज से पहले जब कोई बैंक डूबता था तो लोगों के पास रोने के अलावा कोई उपाय नहीं रहता था पर अब 5 लाख तक के रुपए कि राशि बैंक डूबने पे वापस मिल जाएगी।

अब बैंक डूबने पर 5 लाख रुपये तक वापसी की गारंटी
narendra modi

‘डिपॉजिटर्स फर्स्ट: गारंटीड टाइम-बाउंड डिपॉजिट इंश्योरेंस पेमेंट अप टू 5 लाख रुपये’ (Depositors First: Guaranteedtime-bound-deposit insurance payment upto rupees 5 lakh ) दिल्ली के विज्ञान भवन में आयोजित किया गया था। इस कार्यक्रम ने मोदी जी ने कहा कि आज का दिन इस बात का साक्षी है कि किसी भी समस्या का समाधान निकाल कर ही उसे विकराल रूप लेने से रोका जा सकता है।

पीएम मोदी ने कहा जब मै मुख्यमंत्री था तब कोई बैंक डूबने लगता था तो लोग हमारा ही गला पकड़ते थे। पर उस वक़्त मै मुख्यमंत्री था इसका निर्णय या तो भारत सरकार ले सकती थी या बैंक वाले। लेकिन लोग मुझे ही कहते थे कि हमारे पैसों का कुछ करो ,उस वक़्त बहुत परेशानी होती थी । उनका दर्द भी स्वाभाविक था ।

आगे मोदी जी कहते हैं कि जब मै मुख्यमंत्री था तो हर बार भारत सरकार से रिक्वेस्ट करता था कि भुगतान की राशि 1 लाख से बढ़ाकर 5 लाख कर दी जाए। जिससे लोग संतुष्ट हों पर उन्होंने नहीं किया। उन्होंने किया तो लोगों ने मुझे भेजा और मैंने कर दिया। उन्होंने कहा कि बरसों से देश में समस्या को टालने की प्रवृति चल रही थी पर आज का भारत समस्या को तालता नहीं बल्कि उसका समाधान निकलता है।

90 दिनों के अंदर मिलेगा पैसा

पीएम मोदी कि मानें तो देश में डिपॉजिटर्स के लिए इंसुरेस की सुविधा 60 के दशक में ही बनाई गई थी। पहले बैंक में जमा रकम में से 50 हज़ार तक की ही वापसी कि गारंटी थी जिससे बढ़ाकर 1 लाख कर दिया गया था। मतलब अगर बैंक डूबता है तो डिपॉजिटर्स को 1 लाख तक ही मिलना था । ये पैसे कब मिलेंगे इसकी भी कोई समय सीमा नहीं थी।

पर आज गरीब कि चिंता को समझते हुए , मध्यम वर्गीय लोगों की समस्या को समझते हुए ये राशि बढ़ाकर 5 लाख रूपए कर दी गई है। बीजेपी सरकार ने समय सीमा भी तय कर दी है। रकम डिपॉजिटर्स को 90 दिनों के अंदर मिलना अनिवार्य कर दिया है। मतलब की यदि बैंक डूबता भी है तो जनता के जमा पैसे उन्हे 90 दिनों के अंदर वापस मिल जाएंगे।

Facebook Comments Box