Loading...
Cricket

सलामी बल्लेबाज : ओपनिंग टेस्ट में रोहित शर्मा पास,जमाया शतक

Loading...

टेस्ट क्रिकेट में सलामी बल्लेबाज की भूमिका का शानदार आगाज करते हुए रोहित शमा
ने शतक जड़ा, जिससे भारत ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले क्रिकेट टेस्ट के पहले दिन बुधवार को यहां 59.1 ओवर में बिना विकेट गंवाए 202 रन बनाए। खराब रोशनी की वजह से इसी स्कोर पर खेल रोकना पडा और निर्धारित समय से आठ मिनट पहले चायकाल की
घोषणा की गई। इसके बाद तीसरे सत्र का खेल बारिश की वजह से शुरू ही नहीं हो सका।

पहले सत्र में कुछ मौकों पर दक्षिण अफ्रीका के गेंदबाज भारतीय बल्लेबाजों को परेशान करने में सफल रहे, लेकिन एक बार लय में आने के 1 बाद रोहित (174 गेंद में नाबाद 115) और मयंक अग्रवाल (183 गेंद में नाबाद 84) ने तेजी से रन बटोरे। भोजनकाल से पहले अर्धशतक पूरा करने वाले रोहित ने स्पिनरों को विशेष रूप से निशाना बनाया। वह अपनी पारी में अब तक पांच छक्के और 12 चौके जड़ चुके हैं। अग्रवाल ने अब तक अपनी पारी में 11 चौके और दो छक्के मारे हैं। रोहित ने ऑफ स्पिनर डेन पीट पर लगातार दो छक्कों के साथ अपना स्कोर 90 रन के पार पहंचाया।

You May Like : आईपीएल टीम के मालिक कैसे कमाते हैं पैसा? जानें शाहरुख और प्रीति की एक मैच की कमाई

उन्होंने पदार्पण कर रहे स्पिनर सेनुरान मुथुस्वामी पर एक रन के साथ 154 गेंद में अपना चौथा टेस्ट शतक पूरा किया। अग्रवाल भी अपने पहले टेस्ट शतक की ओर बढ़ रहे हैं। उन्होंने दूसरे सत्र में स्पिनर केशव महाराज पर एक्स्ट्रा कवर पर छक्के के साथ अर्धशतक पूरा किया। दूसरे सत्र के अंतिम लम्हों में आसमान में बादल छाने पर खराब रोशनी के कारण चाय का विश्राम निर्धारित समय से आठ मिनट पहले लेना पड़ा। इससे पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाजों का सतर्कता से सामना करने के बाद रोहित और अग्रवाल सुबह के सत्र में 30 ओवर के खेल के दौरान क्रीज पर सहज दिखे।

दक्षिण अफ्रीका ने पिच से टर्न मिलने की उम्मीद के साथ महाराज, डेन पीट और पदार्पण कर रहे मुथुस्वामी के रूप में टीम में तीन स्पिनरों को जगह दी। हालांकि, मुथुस्वामी बल्लेबाजी ऑलराउंडर हैं। सभी की नजरें रोहित पर थीं, जिन्हें टीम प्रबंधन ने टेस्ट क्रिकेट में सलामी बल्लेबाज के रूप में उतारने का फैसला किया। रोहित ने तेज गेंदबाज कैगिसो रबादा की अपनी दूसरी ही गेंद को बैकवर्ड प्वाइंट पर चार रन के लिए भेजा, लेकिन उनका यह शॉट विश्वसनीय नहीं था। रोहित ने इसके बाद वर्नोन फिलेंडर पर भी चौका मारा।

You May Like : गुस्से ने बर्बाद किया इस क्रिकेटर का करियर, कभी होती थी सचिन तेंदुलकर से तुलना

पिच से पहले दो घंटे में तेज गेंदबाजों और स्पिनरों को अधिक मदद नहीं मिली, जिसका रोहित और अग्रवाल ने पूरा फायदा उठाया। फिलेंडर ने कुछ मौकों पर भारतीय बल्लेबाजों को परेशान किया, लेकिन अधिक गति से गेंदबाजी करने वाले रबादा ने निराश किया। पहले घंटे में रोहित और फिलेंडर के बीच संघर्ष दर्शनीय रहा। अभ्यास मैच में रोहित को दूसरी ही गेंद पर आउट करने वाले फिलेंडर ने चार ओवर के शुरुआती स्पैल में गेंद को दोनों ओर मूव कराके इस सलामी बल्लेबाज को चुनौती दी। कुछ मौकों पर चूकने के बाद रोहित ने फिलेंडर को आगे बढ़कर खेलने का फैसला किया।

उन्होंने पदार्पण कर रहे स्पिनर सेनुरान मुथुस्वामी पर एक रन के साथ 154 गेंद में अपना चौथा टेस्ट शतक पूरा किया। अग्रवाल भी अपने पहले टेस्ट शतक की ओर बढ़ रहे हैं। उन्होंने दूसरे सत्र में स्पिनर केशव महाराज पर एक्स्ट्रा कवर पर छक्के के साथ अर्धशतक पूरा किया। दूसरे सत्र के अंतिम लम्हों में आसमान में बादल छाने पर खराब रोशनी के कारण चाय का विश्राम निर्धारित समय से आठ मिनट पहले लेना पड़ा। इससे पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने का फैसला किया और दक्षिण अफ्रीका के तेज गेंदबाजों का सतर्कता से सामना करने के बाद रोहित और अग्रवाल सुबह के सत्र में 30 ओवर के खेल के दौरान क्रीज पर सहज दिखे।

You May Like : अपने एक सैनिक पर प्रतिदिन भोजन पर इतना खर्च करती है भारतीय सेना, जानिए दिलचस्प खबर..

दक्षिण अफ्रीका ने पिच से टर्न मिलने की उम्मीद के साथ महाराज, डेन पीट और पदार्पण कर रहे मुथुस्वामी के रूप में टीम में तीन स्पिनरों को जगह दी। हालांकि, मुथुस्वामी बल्लेबाजी ऑलराउंडर हैं। सभी की नजरें रोहित पर थीं, जिन्हें टीम प्रबंधन ने टेस्ट क्रिकेट में सलामी बल्लेबाज के रूप में उतारने का फैसला किया। रोहित ने तेज गेंदबाज कैगिसो रबादा की अपनी दूसरी ही गेंद को बैकवर्ड प्वाइंट पर चार रन के लिए भेजा, लेकिन उनका यह शॉट विश्वसनीय नहीं था। रोहित ने इसके बाद वर्नोन फिलेंडर पर भी चौका मारा। पिच से पहले दो घंटे में तेज गेंदबाजों और स्पिनरों को अधिक मदद नहीं मिली, जिसका रोहित और अग्रवाल ने पूरा फायदा उठाया।

फिलेंडर ने कुछ मौकों पर भारतीय बल्लेबाजों को परेशान किया, लेकिन अधिक गति से गेंदबाजी करने वाले रबादा ने निराश किया। पहले घंटे में रोहित और फिलेंडर के बीच संघर्ष दर्शनीय रहा। अभ्यास मैच में रोहित को दूसरी ही गेंद पर आउट करने वाले फिलेंडर ने चार ओवर के शुरुआती स्पैल में गेंद को दोनों ओर मूव कराके इस सलामी बल्लेबाज को चुनौती दी। कुछ मौकों पर चूकने के बाद रोहित ने फिलेंडर को आगे बढ़कर खेलने का फैसला किया।

You May Like : 160 सीसी सेगमेंट(160-cc Segment) में इन तीनों में से कौन सी बाइक है बेस्ट?

News Source : Hindi News Paper Dainik Jagran

Loading...

Most Popular

Loading...
Loading...
To Top