NCB को नहीं मिला आर्यन के खिलाफ कोई सबूत, कोर्ट ने सुनाया फरमान…

Copy

बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को ड्रग्स केस में हिरासत में लिया गया था।ये तो सभी जानते है। फिर काफी समय के बाद आर्यन के खिलाफ सबूत न मिलने पर आर्यन को जेल से रिहा कर दिया गया था। आर्यन की रिहाई के बाद ख़बरों का बाजार इस खबर से गर्म था कि आर्यन खान को ड्रग्स केस में फंसाने की साजिश हुई थी। मालूम हो की अब मुंबई हाई कोर्ट ने फैसला सुनाया है। जिसमें साफतौर पर कहा गया है कि आर्यन खान और मामले के दो अन्य आरोपियों के खिलाफ किसी तरह के कोई सबूत नहीं मिले हैं।

Aryan Khan

मालूम हो की मुंबई हाई कोर्ट ने अपने फैसले में कहा कि, “नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (NCB) द्वारा बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan), अरबाज मर्चेंट, और मॉडल मुनमुन धमेचा के खिलाफ कोई सबूत नहीं मिले हैं”। अदालत ने आगे यह भी कहा कि, “आर्यन खान के फोन से मिली व्हाटसएप चैट से यह भी पता चलता है कि उसमें कुछ भी ऐसा आपत्तिजनक नहीं था, जिससे यह कहा जा सके कि आर्यन खान, अरबाज मर्चेंट और मुनमुन धमेचा ने दूसरे आरोपियों के साथ मिलकर अपराध करने की कोई साजिश रची है।”

aryan khan

इस चार्जशीट के अनुसार “NDPS अधिनियम की धारा 67 के तहत NCB ने आर्यन खान का जो इकबालिया बयान दर्ज किया था, वो केवल जांच के लिए थी। इस बयान को किसी टूल की तरह इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है कि आरोपी ने NDPS अधिनियम के तहत अपराध किया है।” वहीं, चार्ट शीट में ये भी है की इस समय यह निष्कर्ष निकाल पाना मुश्किल है कि आवेदक व्यावसायिक रूप से अपराध का हिस्सा था या नहीं। बता दें कि इस दौरान जमानत ऑर्डर में केरल की तूफान सिंह सरकार, उड़ीसा सरकार और महेन्द्र मिश्रा के ऑर्डर का भी उल्लेख किया गया है।

aryan khan

मालूम हो कि कोर्ट का ये कहना आर्यन खान और उनके चाहने वालों के लिए खुशी की खबर है। पर इस स्टेटमेंट के सामने आने के बाद लोगों के रिएक्शन भी सामने आ रहे हैं। जहां कुछ आर्यन को बधाई दे रहे हैं। तो वहीं कई ऐसे लोग हैं जो एक बार फिर उन्हें खूब खरी-खोटी सुना रहे हैं। आर्यन को इससे पहले भी जमानत मिलने के बाद कई मौकों पर लोगों ने लताड़ लगाई है। ऐसे में फिलहाल आर्यन खान सोशल मीडिया से दूरी बनाए हुए हैं।

Facebook Comments Box