एक ही मंच पर नज़र आये उद्धव ठाकरे केंद्रीय मंत्री नारायण राणे, कभी कहा था: ‘…तो थप्पड़ मा’र देता…’

Copy

सिंधुदुर्ग में बने चिपि हवाई अड्डे का शनिवार को उद्घाटन किया गया और इस कार्यक्रम में एक दूसरे के धुर विरोधी राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और केंद्रीय मंत्री नारायण राणे एक साथ मंच साझा करते नजर आए. उल्लेखनीय है कि यह पहली बार है जब दोनों नेता राणे के शिवसेना छोड़ने के बाद एक साथ मंच पर आए हैं. पहले दोनों शिवसेना में साथ थे लेकिन राणे के पार्टी छोड़ने के बाद शिवसेना अध्यक्ष ठाकरे से उनके रिश्तों में तल्खी आ गई.

सिंधुदुर्ग से आने वाले राणे ने कार्यक्रम में उन कार्यों की चर्चा की जिन्हें वर्ष 1990 में पहली बार उनके यहां से विधायक चुने के बाद किया गया है. भाजपा नेता राणे ने कहा कि शिवसेना सुप्रीमो दिवंगत बाल ठाकरे के निर्देश पर उन्हें इस क्षेत्र में तैनात किया गया. राणे ने कहा कि उनकी कोशिशों की वजह से कोंकण में अवसंरचना के विकास को गति मिली है. ठाकरे पर तंज कसते हुए राणे ने कहा कि दिवंगत शिवसेना सुप्रीमो कभी झूठ बोलने वाले लोगों को पसंद नहीं करते थे.

राणे के तंज पर पलटवार करते हुए ठाकरे ने कहा,बाला साहेब झूठ पंसद नहीं करते थे. इसिलए कई बार ऐसे लोगों को शिवसेना से बाहर निकाला. बाला साहेब ठाकरे कहते थे कि अगर झूठ कड़वा भी हो तो उसे कह देना चाहिए.’’

मुख्यमंत्री ने कहा, आप (राणे) मंत्री हैं. इसलिए अगर यह सूक्ष्म और लघु है तो क्या हुआ, यह अहम मंत्रालय है और आपको इसका इस्तेमाल महाराष्ट्र के लाभ के लिए करना चाहिए.’’ उन्होंने कहा कि चिपि में हेलीपोर्ट होना चाहिए जिसका इस्तेमाल पर्यटन के लिए किया जा सकता है.

उल्लेखनीय है कि केंद्रीय सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम मंत्री राणे को इस साल अगस्त में महाराष्ट्र पुलिस ने मुख्यमंत्री पर कथित विवादित टिप्पणी करने के लिए गिरफ्तार किया था जिन्हें बाद में अदालत ने जमानत दे दी थी. राणे ने वर्ष 2005 में शिवसेना छोड़ी थी और इसके लिए वह ठाकरे को जिम्मेदार मानते हैं. तब से दोनों नेताओं में गतिरोध बना हुआ है.

Facebook Comments Box