Mahindra Thar में मॉडिफिकेशन कराना पड़ा महंगा, हो गई 6 महीने की जेल

कुछ लोग बिना इस नियम को जाने अपनी कार को इस हद तक मॉडिफाई कर लेते हैं कि असली कार की पहचान ही नहीं हो पाती। अपने वाहन को ओवर-मॉडिफाई करना आपको कानूनी मुसीबत में डाल सकता है और हाल ही में ऐसा ही एक मामला जम्मू-कश्मीर से सामने आया है। वैसे तो देश में कार और बाइक को मॉडिफाई करना गैरकानूनी है, लेकिन कानून के कुछ नियमों का पालन करके आप अपनी कार को थोड़ा मॉडिफाई कर सकते हैं।

Mahindra Thar modify
Mahindra Thar में मॉडिफिकेशन कराना पड़ा महंगा

यहां रहने वाले एक युवक को अपनी Mahindra Thar को इतना मॉडिफाई करना पड़ा कि कोर्ट ने उसे छह महीने के लिए जेल भेज दिया। अदालत ने मोटर वाहन अधिनियम, 1988 (एमवी अधिनियम) की धारा 52 के तहत फैसला सुनाया, जिसमें कहा गया है कि ‘कोई भी मालिक अपने वाहन में बदलाव नहीं करेगा ताकि उसका विवरण पंजीकरण प्रमाणपत्र (आरसी) में निहित जानकारी से मेल न खाए। ‘

Mahindra Thar modify
Mahindra Thar में मॉडिफिकेशन कराना पड़ा महंगा

यह मामला जम्मू-कश्मीर का है जहां Mahindra Thar के मालिक आदिल फारूक भट को अवैध मोडिफिकेशन के आरोप में श्रीनगर की एक ट्रैफिक कोर्ट ने 6 महीने की जेल की सजा सुनाई है. इसके अलावा कोर्ट ने यह भी कहा कि आदिल अगर 2 लाख रुपए का मुचलका भरता है और 2 साल तक अच्छा व्यवहार करता है तो उसे जेल नहीं जाना पड़ेगा और वह मामले से पूरी तरह से बरी हो जाएगा.

हाल ही का ट्वीट

ऐसे में उन्हें प्रोबेशन ऑफ ऑफेंडर्स एक्ट के तहत प्रोबेशन का लाभ दिया गया है। यह लाभ देने के बाद भी कार के मालिक को छह माह कैद की सजा सुनाई गई है। इसके साथ ही कोर्ट ने श्रीनगर के आरटीओ को आदिल फारूक की गाड़ी के सभी मॉडिफिकेशन को ठीक करने और SUV को उसकी मूल स्थिति में वापस लाने का भी आदेश दिया है. अहम बात यह है कि अदालत ने यह सजा सुनाते हुए कार के मालिक का इतिहास खंगाला और पाया कि उसके खिलाफ पहले कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं था.

इसी माह लॉन्च हो सकती है महिंद्रा की नई Thar

मॉडिफिकेशन करते समय इन बातों का रखें ध्यान

  • कार या बाइक की पूरी किट बदलना दंडनीय अपराध है। ऐसा करने पर वाहन को इंपाउंड किया जा सकता है और उसके मालिक को जेल भी हो सकती है।
  • आरसी में दर्ज वाहन की स्थिति में बदलाव न करें।
  • अगर आपने अपनी कार का रंग बदला है या उसमें अलग से सीएनजी/पीएनजी गैस किट लगवाई है तो उसे अपनी आरसी में दर्ज करें।
  • कई वाहन कानूनी रूप से स्वीकृत सामान के साथ आते हैं, आप चाहें तो उन्हें अलग से जोड़ सकते हैं। उदाहरण के लिए फ़ोर्स गोरखा एक ऐसा वाहन है जिसे इसके कुछ सामानों के लिए कानूनी मान्यता प्राप्त है।
  • Motor Vehicle Act 1988 के अनुसार भारत में लगभग सभी कारों को मॉडिफाई करना अपराध है.
  • बंपर या फेंडर को पूरी तरह से बदलना, लाइट बदलना, एग्जॉस्ट बदलना आदि जैसे मामूली संशोधन भी अवैध हैं।
Srinidhi Shetty मिस मैरियोनियल से KGF मूवी तक का सफर काफ़ी दिलचस्प रहा Akshara Singh का ये लुक देखते ही पापा हुए गुस्सा से आग – बबूला Sakshi singh Rawat Dhoni की पत्नी किसी हीरोइन से कम नहीं Shraddha Arya डीप नेक ब्लाउज-ट्रांसपेरेंट साड़ी में TV एक्ट्रेस का जलवा Janhvi Kapoor ने बिना मेकअप फोटो साझा किया
Srinidhi Shetty मिस मैरियोनियल से KGF मूवी तक का सफर काफ़ी दिलचस्प रहा Akshara Singh का ये लुक देखते ही पापा हुए गुस्सा से आग – बबूला Sakshi singh Rawat Dhoni की पत्नी किसी हीरोइन से कम नहीं Shraddha Arya डीप नेक ब्लाउज-ट्रांसपेरेंट साड़ी में TV एक्ट्रेस का जलवा Janhvi Kapoor ने बिना मेकअप फोटो साझा किया