Crime

मुंबई आतंकी हमले का गुनहगार कसाब से जब पूछा गया कि अगर उसे छोड़ दिया जाता है तो वह क्या…

26 नवंबर 2008 की वह तारीख कोई भी नहीं भुला सकता है। केवल एक हिंदुस्तानी ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया को इस हमले ने झकझोर कर रख लिया था। भारत के लोगों के लिए यह एक ऐसा काला दिन था, जिसे भूल पाना किसी के लिए भी मुश्किल है।

वही इस हमले का मास्टरमाइंड आतंकवादी जिंदा पकड़ा गया था, जो एक पाकिस्तानी आतंकवादी था जिसका नाम कसाब था जिसे 4 साल की कैद के बाद साल 2012 में फांसी दी गई थी। वही आपको बता दें कि अजमल कसाब से जब यह पूछा गया कि यदि उसे छोड़ दिया जाता है तो वह क्या करेगा, तो जवाब सुनकर शायद आप भी चौक सकते हैं। उत्तर के रूप में कसाब ने कहा कि मैं अपनी मां और पिता के पास जाऊंगा और उनकी सेवा करूंगा।

अजमल कसाब से यह सवाल पूछने वाले उस वक्त के एन एस यू के डीआईजी थे, जिन्होंने लगभग 50 मिनट तक कसाब से पूछताछ की, जहां आज मुंबई हमले के इतने सालों बाद मुंबई में कसाब की पूछताछ को याद करते हुए सिसोदिया ने इस बात को जाहिर किया कि कैसे उन्होंने कसाब को कम-से-कम जानकारी प्राप्त करने के लिए कंफर्ट लेवल तक ले गए थे।

वही बड़ी बात को सिसोदिया ने जाहिर किया कि “हस्तक्षेप कक्ष में जाने से पहले मैंने यह धारणा बना ली थी कि मेरे लिए उसके साथ कई चीजों का खुलासा करना आसान नहीं रहा, क्योंकि अजमल कसाब अपने किसी खास मिशन के लिए यहां आया था।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Most Popular

To Top