वरुण गांधी को कंगना का जवाब – गांधी के भीख के कटोरे में आजादी डाल दी गई.. जा और रो अब

Copy

गत सोमवार को बालीवुड की मशहूर अभिनेत्री कंगना रनौत को देश के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पुरस्कार पद्मश्री से सम्मानित किया गया। उनके प्रशंसकों के अलावा स्वयं कंगना भी खुद को मिले इस सम्मान से काफी खुश हैं और सोशल मीडिया के माध्यम से उन्होंने अपनी ख़ुशी भी व्यक्त की है।इसी बीच अभिनेत्री कंगना रणौत के द्वारा देश की आजादी को लेकर दिए गए बयान के बाद अचानक से विवाद की स्थिति बन गई है।

मालूम हो कि बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रणौत आए दिन अपने बयानों को लेकर चर्चा में बनी रहती हैं। अभिनेत्री अपने बेबाक अंदाज के चलते कई बार विवादों में भी फंस चुकी हैं। इसी की ताज़ी बानगी है एक्ट्रेस के द्वारा दिया गया एक बयान और इसी बयान के कारण वह एक बार फिर विवादों में फंस गई हैं। दरअसल, हाल ही में अभिनेत्री के देश की आजादी को लेकर दिए गए बयान के बाद विवाद बढ़ता जा रहा है।

कंगना के इस बयान के बाद वरुण गांधी ने ट्वीट कर उन पर तंज कसा था। वहीं, उनके ट्वीट पर कंगना ने पलटवार करते हुए इंस्टाग्राम स्टोरी पर जमकर भड़ास निकाली। अपनी बात रखते हुए कंगना ने लिखा, गांधी को आजादी भीख में मिली थी, जा अब और रो। कंगना के इस बयान के बाद से ही कई लोगों ने अपनी नाराजगी जाहिर की है। वहीं, उनका नाम भी ट्विटर पर ट्रेंड कर रहा है।

दरअसल, देश को आजादी भीख में मिलने वाले उनके बयान पर नाराजगी जाहिर करते हुए वरुण गांधी ने ट्वीट किया था। वहीं, अब कंगना ने वरुण का ट्वीट अपने इंस्टाग्राम पर शेयर करते हुए लिखा, 1857 की क्रांति को नियंत्रित किया गया था, जिसकी वजह से ब्रिटिश सरकार की तरफ से अत्याचार और निर्दयता की गई थी, जिसके सालों बाद हमें आजादी मिली। वह भी गांधी की भीख पर। जा अब और रो।

कंगना के इस बयान पर वरुण गांधी ने तंज कसते हुए ट्वीट किया था कि कभी महात्मा गांधी जी के त्याग और तपस्या का अपमान, कभी उनके हत्यारे का सम्मान और अब शहीद मंगल पाण्डेय से लेकर रानी लक्ष्मीबाई, भगत सिंह, चंद्रशेखर आज़ाद, नेताजी सुभाष चंद्र बोस जैसे लाखों स्वतंत्रता सेनानियों की कुर्बानियों का तिरस्कार। आपकी इस सोच को मैं पागलपन कहूं या फिर देशद्रोह?

हाल ही में हुए एक सम्मिट के दौरान कंगना रणौत ने कहा था कि देश को 1947 में आजादी भीख में मिली थी और देश को असली आजादी साल 2014 में मिली। दरअसल, उनके इस बयान का इशारा नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने की ओर था। कंगना का यह बयान सामने आते ही सोशल मीडिया पर उनका जमकर विरोध किया जा रहा है। वहीं, यूजर्स उन्हें काफी ट्रोल भी कर रहे हैं।

Facebook Comments Box