कंगना ने किया पोस्ट ,कहा – दूसरा गाल आगे बढ़ाने से भीख मिलती है ,हुआ विवाद

Copy

बेहतरीन अदाकारा कंगना रनौत आए दिन अपने तीखे तेवर और रोज़ तरह तरह के बयानों कि वजह से सुर्खियां बटोरती है ।

सामने आया एक और बयान

कंगना रनौत ने हाल ही में एक ऐसा बयान दिया जिससे वो विवादों से घिर गईं ।कंगना दावे के साथ ये कहती है कि भारत 1947 में आजाद नहीं हुआ था,बल्कि वो आजादी उसे भीख में मिली थी अभिनेत्री ने यहॉं तक कहा कि गांधी जी ने कभी भी नेताजी सुभाश चन्द्र बोस की हिमायत नहीं की , इसका सीधा मतलब है कि वो चाहते थे कि भगत सिंह को फांसी हो जाए ।उनकी मानें तो आप या तो गांधी जी के फैन हो सकते हो या नेता जी सुभाष चन्द्र बोस के समर्थक ,चुनाव आपको करना होगा ।

Now Gandhiji came under Kangana's target, said - did not support Netaji and  Sardar Bhagat Singh, wanted to be hanged- कंगना के निशाने पर अब आए गांधी  जी, बोलीं- नहीं किया नेताजी
कंगना रनौत

महात्मा गांधी को कंगना ने कहा सत्ता का भूखा

कंगना रनौत ने अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर दो लंबे मैसेज डाले , जिसमें उन्होंने लिखा , जो लोग आजादी के लिए लड़े उसे उन लोगों ने अपने मालिक को सौंप दिया क्यूंकि उनमें ना तो हिम्मत थी और ना ही खून में उबाल ।वे सत्ता के भूखे और चालाक थे ।ये वही लोग थे, जिन्होंने हमें सिखाया अगर कोई तुम्हे एक गाल पर थप्पड़ मारे तो उसके सामने दूसरा गाल आगे कर दो और इस तरह तुमको आजादी मिल जाएगी , ऐसे आजादी नहीं ,सिर्फ भीख मिलती है ।

कंगना ने कहा – वापस कर दूंगी पद्मश्री

आपको बता दें हाल ही में कंगना रनौत पद्मश्री से नवाजी गई थी । पर अभिनेत्री 1947 में मिली आजादी को भीख बता कर विवाद से घिर गई ।ऐसे मे कांग्रेस , शिव सेना और आप ने इसे देशद्रोह बताया और मुकदमे की मांग की तब कंगना ने खुला चैलेंज दे बयान दिया की अगर वो गलत साबित होती हैं तो वो अपना पद्मश्री वापस कर देंगी ।

Facebook Comments Box