Advertisement
Categories: देश

J&K में फिर किया सीजफायर उल्लंघन, इस बार गांवों और चौकियों को बनाया निशाना

प्रतीकात्मक तस्वीर

जम्मू. पाकिस्तान (Pakistan) ने भारत (India) के खिलाफ अपनी नापाक साजिशें रचना जारी रखा है. शनिवार के बाद रविवार को फिर से एक बार पाक ने सीजफायर का उल्लंघन किया है. इस बार पाकिस्तानी सैनिकों ने जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) के कठुआ और राजौरी जिले में अंतरराष्ट्रीय सीमा और नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर अग्रिम चौकियों और गांवों को निशाना बनाया. हालांकि, भारतीय सैनिकों ने भी इसका माकूल जवाब दिया है. अधिकारियों ने रविवार को यह जानकारी दी.

हालांकि, संघर्ष विराम समझौते के उल्लंघन (Ceasefire Violation) की वजह से किसी के हताहत होने की खबर नहीं है, लेकिन इससे एक दिन पहले पाकिस्तानी सैनिकों की ओर से राजौरी और पुंछ जिले में गोलीबारी की अलग-अलग घटनाओं में सेना का एक जवान शहीद हो गया था और दो महिलाओं समेत तीन अन्य लोग घायल हो गए थे.

एक रक्षा प्रवक्ता ने बताया, ‘रविवार सुबह 11 बजकर 15 मिनट पर पाकिस्तान ने राजौरी के नौशेरा सेक्टर में नियंत्रण रेखा पर बिना किसी उकसावे के छोटे हथियारों से गोलीबारी शुरू की और मोर्टार के गोले दागकर संघर्षविराम समझौते का उल्लंघन किया.’ वहीं, संघर्ष विराम उल्लंघन के एक अन्य मामले की जानकारी देते हुए अधिकारियों ने बताया कि शनिवार रात करीब नौ बजे सतपाल, मनयारी, करोल कृष्णा और गुरनाम सीमा चौकियों पर सीमापार से गोलीबारी शुरू हुई. हालांकि इसका सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने माकूल जवाब दिया.

उन्होंने बताया कि दोनों ही तरफ से गोलीबारी रविवार तड़के तीन बजकर 45 मिनट पर भी जारी थी. अभी तक भारतीय पक्ष से किसी के हताहत होने या क्षति की खबर नहीं है. इस साल अब तक पाकिस्तान ने 4000 बार संघर्ष विराम समझौते का उल्लंघन किया है. 2019 में यह संख्या 3289 थी.कल हुई थी एक जवान की मौत
शनिवार को पाकिस्तान की तरफ से हुए सीजफायर में एक भारतीय जवान हवलदार पाटिल संग्राम शिवाजी शहीद हो गए थे. फॉरवर्ड पोस्ट पर तैनात शिवाजी नौशेरा सेक्टर के राजौरी जिले के लाम इलाके में हुई गोलीबारी में घायल हो गए थे. उनके अलावा इस गोलीबारी में एक और भारतीय सैनिक घायल हो गया था. हालांकि, यहां भी सेना ने पाक को मुंहतोड़ जवाब दिया और दोनों पक्षों की ओर से कुछ देर गोलीबारी जारी रही.


Source link

Leave a Comment
Advertisement

This website uses cookies.