Politics

सच हुआ अमित शाह की बात, 25 दिन पहले ही कर दी थी हार की भविष्यवाणी, कहा था – मुझे बेवकूफ मत बनाइए

Advertisement

झारखंड में हो रहे चुनाव को लेकर बहुत से बयान सामने आए हैं झारखंड विधानसभा चुनाव की मतगणना जारी है और अब झारखंड में महागठबंधन की सरकार बन गई है पर बात इस मुद्दे पर चल रही है कि कैसे अमित शाह ने 25 दिन पहले ही चुनावी सभा को संबोधित करते हुए राज्य में अपनी ही पार्टी की हार की भविष्यवाणी कर दी थी।

आइए अब आपको बताते हैं कि क्या आप कहा था अमित शाह ने, 28 नवंबर को चतरा में चुनावी सभा को संबोधित करने पहुंचे थे पर जब अमित शाह उस सभा में पहुंचे तब उस सभा में भीड़ कम थी और भीड़ देखकर वह पार्टी के स्थानीय नेताओं और कार्यकर्ताओं पर नाराज हो गए थे। उन्होंने मंच पर ही क्लास लगा दी और सख्त लहजे में पूछा कि 15-20 हजार की भीड़ जमा कर विधायक बन जाओगे?अमित शाह ने मंच से अपने भाषण में कहा था कि मुझे बेवकूफ मत बनाओ, मैं भी बनिया हूं इतना गणित जानता हूं कि इतनी सी भीड़ से कोई विधायक नहीं बन सकता।

यह भी पढ़ें-  BJP को झटका, अकाली दल ने तोड़ा NDA से 23 साल पुराना रिश्ता

You May Like : Government Job Vacancy : सरकारी शिक्षक बनने का मौका, यहां निकली है 37 हजार पदों पर भर्तियां

बीजेपी अध्यक्ष ने भाषण के दौरान कहा था,देखो भाई यह 10-15 हजार लोगों की भीड़ से जीत जाएंगे क्या? जीत सकते हैं? नहीं-नहीं भाई,नहीं जीत सकता। मुझे भी गणित पता है। मैं भी बनिया हूँ। मुझे बेवकूफ मत बनाओ आप।एक रास्ता बताओ,करोगे क्या?मोदी जी को आशीर्वाद दोगे?फिर से रघुवर सरकार बनाओगे?रघुवर ने फोन दिया है ना तो दिखाओ और वादा करो कि 25-25 लोगों को फोन करोगे।मामा को, मामी को, चाचा को,चाची को,बुआ को,फूफी को दादा को,दादी को,भाई को,भाभी को यानी कुल 25 लोगों को फोन करना है और उन्हें कहना है कि कमल पर बटन दबाओ।’

यह भी पढ़ें-  BJP MP Tejashwi Surya claimed that Bengaluru has become the hub of terrorist activities | आतंकी गतिविधियों का केंद्र बना बेंगलुरु, अमित शाह से मुलाकात कर तेजस्वी ने की ये मांग

झारखंड में चुनाव के नतीजे आने से पहले आरपीएन सिंह ने कहा है कि हमें विश्वास है कि गठबंधन को स्पष्ट बहुमत मिलेगा रुझान अच्छे हैं लेकिन जब तक सभी सीटों के नतीजे नहीं आ जाते तब तक इस पर कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। हमने साफ-साफ कहां है कि हेमंत सोरेन राज्य के अगले मुख्यमंत्री होंगे वही चुनाव के ऐन पहले बीजेपी की सहयोगी पार्टी आजसू ने अलग राह अपना ली थी वही जेएमएम,कांग्रेस, और राजद ने महागठबंघन बनाकर चुनाव लड़ा था।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग न्यूज़

To Top