IPS Ravi : वो लड़का जो 14 साल की उम्र में KBC जीतकर बना था करोड़पति, आज SP बनकर मिटा रहा है अपराध

हर किसी को अपनी किस्मत से ज्यादा जरूरत होती है। किस्मत भी कई लोगों को ज्यादा देती है लेकिन वो इसे संभाल नहीं पाते। वहीं रवि मोहन सैनी जैसे कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो किस्मत से ज्यादा पाकर भी अपने सपने पूरे करते हैं। कौन बनेगा करोड़पति जूनियर में एक करोड़ जीतने से लेकर आईपीएस बनने तक रवि की कहानी से बहुत कुछ सीखने को मिलता है।

हालांकि क्विज गेम शो कौन बनेगा करोड़पति में कई लोगों ने करोड़पति बनने के लिए अपनी किस्मत आजमाई, उनमें से कई करोड़पति बन गए लेकिन लगभग सभी करोड़पति गुमनाम हो गए हैं, दुनिया उनके बारे में कुछ नहीं जानती है। लेकिन 2001 में एक 14 साल के लड़के ने उन दिनों 1 करोड़ रुपये जीतकर खूब सुर्खियां बटोरी थीं.

IPS Ravi: वो लड़का जो 14 साल की उम्र में KBC जीतकर बना था करोड़पति, आज SP  बनकर मिटा रहा है अपराध

उस लड़के का सफर करोड़पति बनने तक नहीं रुका बल्कि उसने खुद अपनी मंजिल का रास्ता तय किया और आईपीएस अधिकारी बन गया। यहां हम बात कर रहे हैं आईपीएस रवि मोहन सैनी की, जिन्होंने कौन बनेगा करोड़पति गेम शो जीतकर यूपीएससी की परीक्षा पास की और आईपीएस बन गए। रवि वर्तमान में गुजरात के पोरबंदर में पुलिस अधीक्षक के पद पर कार्यरत हैं।

IPS Ravi: वो लड़का जो 14 साल की उम्र में KBC जीतकर बना था करोड़पति, आज SP  बनकर मिटा रहा है अपराध

तब 10वीं के विद्यार्थि थे रवि 

साल 2001 में रवि 14 साल के थे। इसी साल उन्होंने कौन बनेगा करोड़पति जूनियर जैसे क्विज शो में हिस्सा लिया। शो के होस्ट अमिताभ बच्चन ने रवि से 15 सवाल पूछे और वह हर सवाल का सही जवाब देकर उस सीजन के करोड़पति बन गए। जब रवि ने इस शो में भाग लिया था, तब वह 10वीं कक्षा का छात्र था।

IPS Ravi: वो लड़का जो 14 साल की उम्र में KBC जीतकर बना था करोड़पति, आज SP  बनकर मिटा रहा है अपराध

भारतीय नौसेना के एक सेवानिवृत्त अधिकारी के बेटे रवि मोहन सैनी मूल रूप से अलवर, राजस्थान के रहने वाले हैं। रवि के पिता आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम में तैनात थे। यही वजह रही कि रवि की स्कूली शिक्षा यहां के नेवल पब्लिक स्कूल से हुई। वह पढ़ाई में हमेशा होशियार रहता था। तभी रवि अपने अकादमिक करियर में टॉपर रह सकता था।

रिपोर्ट के मुताबिक रवि ने यूपीएससी परीक्षा पास करने से पहले एमबीबीएस किया था। उन्होंने 12 वीं के बाद महात्मा गांधी मेडिकल कॉलेज, जयपुर से एमबीबीएस पूरा किया। वह एमबीबीएस के बाद इंटर्नशिप कर रहे थे और इसी दौरान उनका चयन सिविल सर्विस में हो गया। रवि ने एक बार बताया था कि वह अपने नेवी ऑफिसर पिता से काफी प्रभावित थे। उसे देखकर रवि ने आईपीएस बनने का सपना देखा।

IPS Ravi: वो लड़का जो 14 साल की उम्र में KBC जीतकर बना था करोड़पति, आज SP  बनकर मिटा रहा है अपराध

रवि मोहन सैनी के लिए आईपीएस बनना आसान नहीं था। पहले दो प्रयासों में वह अपने सपने को पूरा नहीं कर पाए। रवि ने पहली बार 2012 में यूपीएससी की परीक्षा दी थी, जिसमें वह मेन्स क्लियर नहीं कर पाया था। इसके बाद रवि 2013 में फिर से यूपीएससी में बैठे। इस बार उन्होंने परीक्षा पास की लेकिन उनका चयन आईपीएस के लिए नहीं बल्कि भारतीय डाक और दूरसंचार विभाग में लेखा और वित्त सेवा के लिए हुआ। वह इस पद से संतुष्ट नहीं थे।

यही वजह थी कि उन्होंने 2014 में फिर कोशिश की और इस बार उनकी मेहनत रंग लाई। अपने तीसरे प्रयास में, रवि ने अखिल भारतीय में 461 वां रैंक हासिल किया और एक IPS अधिकारी बन गए।

Facebook Comments Box