महंगे पेट्रोल-डीजल से कितनी भरी सरकार की तिजोरी? आखिरकार मिल गया जवाब

महंगाई के दौर में पेट्रोल के डीजल के बढ़ते दाम ने आम आदमी को बहुत परेशान किया है। बीते दिनों केंद्र और कुछ राज्य सरकारों ने टैक्स (Tax) कम करके लोगों को राहत पहुंचाने की कोशिश तो कि पर जिस ऊंचाई पर पेट्रोल डीजल का रेट है की अब उसे नीचे लाना बेहद मुश्किल लगता है। ऐसे में हर आदमी जानना चाहता है कि पेट्रोल और डीजल से सरकार ने कितनी मोटी रकम कमाई होगी । इस सवाल का जवाब अब सामने आ चुका है। बता दें सरकार ने संसद में तेल से हुई कमाई कि जानकारी दी है।

केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitaraman) ने मंगलवार को संसद में तेल से हुई कमाई कि जानकारी दी है । उन्होंने बताया कि पिछले तीन वित्तीय वर्ष में सरकार ने पेट्रोल डीजल के टैक्स से 8.02 लाख करोड़ रुपए कमाए हैं। केवल 2021 में ही सरकार को 3.71 लाख करोड़ रुपए का राजस्व प्राप्त हुआ है।

महंगे पेट्रोल-डीजल से कितनी भरी सरकार की तिजोरी? आखिरकार मिल गया जवाब
diesel and petrol

दरअसल कुछ सांसदों ने यह मुद्दा उठाया था कि पेट्रोल डीजल के दाम कम करने के लिए आखिर क्या कदम उठाए जा रहे हैं। सांसदों ने पूछा कि टैक्स से सरकार की कितनी कमाई हुई है। इस पर वित्त मंत्री ने सरकार की कमाई कि जानकारी दी।

बता दें इस साल दीपावली से ठीक पहले सरकार ने पेट्रोल और डीजल की उत्पाद शुल्क 5 और 10 रुपए क्रमशः कम किए थे। कई राज्यों ने vat भी कम किए थे जिससे दाम में थोड़ी गिरावट आईं थीं । पर अभी पेट्रोल और डीजल की कीमत बहुत ज्यादा है और इसके नीचे आने की कोई उम्मीद भी नहीं दिखती। सरकार इसके लिए वैश्विक बाजारों में कच्चे तेल की कीमतों का हवाला दे रही है। संसद में सरकार ने कहा कि तेल निर्यात करने वाले देश मांग से कम तेल सप्लाई कर रहे हैं। जिस वजह से ही तेल कि कमी हो गई है। और डिमांड और सप्लाई के वजह से ही इसकी कीमत इतनी चढ गई है।

Facebook Comments Box