Advertisement
Categories: Jara Hat keOMG

कोठे से आजाद कराया और कर ली शादी,हर किसी को जाननी चाहिए,ये प्रेम कहानी

Advertisement

आज हम आपको मध्य प्रदेश की एक प्रेम कहानी बताने जा रहे हैं।प्यार को इस दुनिया का सबसे खूबसूरत एहसास माना जाता है, जब भी कोई अगर किसी से सच्चा प्यार करता है तो उसे अपने प्यार के अलावा और भी नजर नहीं आता है। प्यार कितना प्यारा होता है, आज हम आपको यह बताएंगे।

यह मामला एक लड़का है का है जिसका नाम आकाश है, आकाश को एक लड़की से प्यार हो गया और वह उसे पाने के लिए अपनी जान को जोखिम में डाल दिया, हालांकि उन दोनों का प्यार रंग लाया और उन्होंने कोर्ट में जाकर शादी कर ली, साथ ही इसी युवक ने अपने पूरे समाज को एक सकारात्मक संदेश भी दिया। आकाश और भारती दोनों बांछड़ा समुदाय से हैं, यह वही बांछड़ा समुदाय है जो अपने ही बच्ची को वेश्यावृत्ति जैसे दलदल में धकेल देता है।

मामला के नीमच, मंदसौर और रतलाम जिलों के आसपास इस समुदाय के करीब 250 डेरे हैं, जो खुलेआम वेश्यावृत्ति करते हैं, इस समुदाय के लोग अपनी खुद की बेटियों को इस गंदे काम में धकेल देते हैं, और चंद रुपयों के लिए यहाँ के लोग अपनी बच्चियों को वेश्यावृत्ति के दलदल में उन्हें ढकेल देते हैं, हैरानी की बात तो यह है कि यह काफी सालों से हो रहा है, लेकिन प्रशासन ने अभी तक इसे बंद करने के लिए कोई कदम नहीं उठाया है।

एक रिपोर्ट के अनुसार बांछड़ा समुदाय में बच्चियों के साथ इस तरह का न्याय देखकर इस प्रेमी आकाश का खून खोलता है, लेकिन समुदाय के सामने यह कुछ भी नहीं कर पाता है, आकाश नाम के इस युवक ने पुलिस से कहा कि अगर प्रशासन इस गंदगी को मिटाने के लिए उसका साथ देती है तो वह इस गंदगी को मिटाने की प्रयास करेगा।इतना ही नहीं यह का आकाश इसके के लिए ‘फ्रीडम फॉर्म’ नाम के एनजीओ के साथ मिलकर काम भी करने लगा, और उसने बताया कि अब तक करीब 60 लड़कियों से ज्यादा लड़कियों को देह व्यापार के दलदल में निकाल करा चुका है।

उसने बताया कि 3 साल पहले एक रिसक्यू के दौरान उसकी मुलाकात भारती से हुई थी, हालांकि उस दौरान वह नाबालिग थी और आगे पढ़ना चाहती थी, लेकिन उसकी मां ने उसे इस गंदगी में धकेल दिया था। आकाश ने किसी तरह भारती को निजम के एक हॉस्टल में भर्ती करा दिया था।लेकिन कुछ दिनों बाद भारती की मां ने हॉस्टल से उसे डेरे में ले आई और पंचायत को बुलाया गया, तब सरपंच ने आकाश को भारती से दूर रहने की फरमान सुना दिया।

लेकिन ठीक 7 दिन बाद आकाश ने एनजीओ और पुलिस की मदद से एक डेरे में छापा मारा था, भारती की मां को पांच लड़कियों के साथ दे व्यापार करते पकड़ा गया; आकाश को वहां से यह भी पता चला कि भारतीय कहां है।भारती के बालिक होने के बाद पुलिस ने इन दोनों की शादी भी करवा दी,

क्योंकि यह दोनों एक-दूसरे से बेहद और सच्चा प्यार करते थे, और एक दूसरे का साथ अपनी पूरी जिंदगी बिताना चाहते थे। इसके साथ ही यह बांछडा समुदाय में जो दाग लगा है उसे मिटाने के लिए एक साथ मिलकर लड़ने का फैसला किया है, और लोगों की सोच को बदलने की कोशिश भी किया।

Advertisement
Leave a Comment

Recent Posts

Advertisement

This website uses cookies.