किसान आंदोलन: सरकार के आगे रखीं राकेश टिकैत ने 3 मांगें, कहा- जब तक पूरा नहीं जाएंगे वापस

मोदी सरकार ने तीनों कृषि कानूनों को रद्द कर दिया है फिर भी किसानों का आंदोलन (Farmers Protest) जारी है। जबकि केंद्र सरकार चाह रही है कि किसान धरना छोड़कर वापस अपने घर चले जाएं। वहीं किसान MSP, मुआवजे और अपने ऊपर लगे केस वापस लेने की मांग पर अड़े हैं। मालूम हो की सयुंक्त किसान मोर्चा ने किसानों की बैठक बुलाई है, जिनमें इन सब मुद्दों और किसानों की घर वापसी पर चर्चा होगी।आज होने वाली सयुंक्त किसान मोर्चा की मीटिंग में आगे की रणनीति तय होगी।

इसी बीच भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश टिकैत (Rakesh Tikait) ने बड़ा बयां देते हुए कहा कि एमएसपी (MSP) कानून बनने तक किसानो का आंदोलन खत्म नहीं होगा। हमारी सरकार से बातचीत शुरू हुई है, देखते है बातचीत से कितना समाधान निकल के आता है। सर्कार से हमारी बात मुकदमे वापस लेने पर भी हो रही है। हरियाणा सरकार से बात हो चुकी है। किसानों को मुआवजा देना होगा और एमएसपी पर कानून बनाना ही होगा।

मालूम हो कि किसानों के आंदोलन को लेकर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और किसानों के बीच बीते शुक्रवार को कई घंटे तक चली बैठक बेनतीजा रही। बैठक में किसान आंदोलन के दौरान किसानों पर दर्ज मामलों समेत कई मुद्दों पर चर्चा हुई लेकिन कोई हल नहीं निकला सका। बैठक के बाद हरियाणा के किसान नेता गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने कहा कि सरकार के साथ बैठक संतोषजनक नहीं रही।

Facebook Comments Box