Enhanced Pension Coverage : नौकरी पेशा के ल‍िए बड़ी खुशखबरी, आप भी कर सकेंगे यह काम सरकार से म‍िलेगा बंपर फायदा

सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को 2014 की कर्मचारी पेंशन (संशोधन) योजना को वैध घोषित किया। हालांकि, अदालत ने पेंशन फंड में शामिल होने के लिए 15,000 रुपये मासिक वेतन (मूल वेतन और महंगाई भत्ता सहित) की शर्त को खत्म कर दिया। संशोधन से पहले, अधिकतम पेंशन योग्य वेतन 6,500 रुपये प्रति माह था। सुप्रीम कोर्ट ने उन कर्मचारियों को भी 6 महीने के भीतर इस योजना में शामिल होने का मौका दिया है जो पहले पेंशन योजना में शामिल नहीं हुए हैं।

Enhanced Pension Coverage
आप भी कर सकेंगे यह काम सरकार से म‍िलेगा बंपर फायदा

इसे भारत में 1995 में लॉन्च किया गया था। मौजूदा और नए EPF सदस्य इस योजना में शामिल हो सकते हैं। यह योजना संगठित क्षेत्र के सेवानिवृत्त कर्मचारियों के लिए है, जो 58 वर्ष की आयु में सेवानिवृत्त हो चुके हैं। नियोक्ता और कर्मचारी दोनों कर्मचारी के वेतन के 12 प्रतिशत के बराबर EPF फंड में समान रूप से योगदान करते हैं। कर्मचारी का पूरा योगदान EPF में जाता है। वहीं, नियोक्ता द्वारा किए गए योगदान का 8.33 फीसदी हर महीने EPS और 3.67 फीसदी EPF में जाता है।

इसे भी पढ़ें..  Conversion : शादी के जरिए धर्मांतरण रोकने वाले नियमों पर लगी रोक हटाएं, गुजरात सरकार का SC में हलफनामा

कर्मचारी पेंशन योजना, 1995 को 2014 में संशोधित किया गया था। संशोधन से पहले, कर्मचारी पेंशन योजना 1995 (EPS योजना) के पैराग्राफ 6 के अनुसार EPS योजना प्रत्येक कर्मचारी पर लागू होगी जो 16 नवंबर 1995 को या उसके बाद कर्मचारी भविष्य निधि योजना 1952 का सदस्य बना। EPS योजना के पैराग्राफ 11 के अनुसार, कर्मचारी का पेंशन योग्य वेतन कर्मचारी के सदस्यता से बाहर निकलने की तारीख से पहले 12 महीने की अवधि के दौरान अर्जित औसत मासिक वेतन होगा। पहले अधिकतम पेंशन योग्य वेतन सीमा 6,500 रुपये प्रति माह थी। 2014 में योजना में संशोधन के बाद पेंशन योग्य वेतन को बढ़ाकर 15,000 रुपये कर दिया गया था। यह सबसे बड़ा विवाद था और आज सुप्रीम कोर्ट ने इस सीमा को अवैध बताते हुए रद्द कर दिया।

पेंशन राशि हर मामले में भिन्न होती है। कोई भी सदस्य 58 वर्ष की आयु में सेवानिवृत्त हो सकता है और पेंशन प्राप्त करना शुरू कर सकता है। 50 साल की उम्र में भी पेंशन मिल सकती है, लेकिन EPS से पेंशन के तौर पर कम पैसे मिलेंगे। एक कर्मचारी पेंशन को दो साल (60 साल की उम्र तक) के लिए भी टाल सकता है। यदि कोई EPFO सदस्य पूरी तरह से विकलांग हो जाता है और उसने पेंशन योग्य सेवा अवधि पूरी नहीं की है, तो भी वह मासिक पेंशन का हकदार है।

इसे भी पढ़ें..  Conversion : शादी के जरिए धर्मांतरण रोकने वाले नियमों पर लगी रोक हटाएं, गुजरात सरकार का SC में हलफनामा

कर्मचारी पेंशन योजना के तहत लाभ प्राप्त करने के लिए एक व्यक्ति को कुछ शर्तों को पूरा करना होगा। कर्मचारी को EPFO का सदस्य होना चाहिए • कुल मिलाकर उसने कम से कम 10 साल काम किया हो और उसकी उम्र 58 साल हो चुकी हो।

Srinidhi Shetty मिस मैरियोनियल से KGF मूवी तक का सफर काफ़ी दिलचस्प रहा Akshara Singh का ये लुक देखते ही पापा हुए गुस्सा से आग – बबूला Sakshi singh Rawat Dhoni की पत्नी किसी हीरोइन से कम नहीं Shraddha Arya डीप नेक ब्लाउज-ट्रांसपेरेंट साड़ी में TV एक्ट्रेस का जलवा Janhvi Kapoor ने बिना मेकअप फोटो साझा किया
Srinidhi Shetty मिस मैरियोनियल से KGF मूवी तक का सफर काफ़ी दिलचस्प रहा Akshara Singh का ये लुक देखते ही पापा हुए गुस्सा से आग – बबूला Sakshi singh Rawat Dhoni की पत्नी किसी हीरोइन से कम नहीं Shraddha Arya डीप नेक ब्लाउज-ट्रांसपेरेंट साड़ी में TV एक्ट्रेस का जलवा Janhvi Kapoor ने बिना मेकअप फोटो साझा किया