Politics

मुख्यमंत्री कमलनाथ को सुप्रीम कोर्ट की तरफ से बड़ा झटका,बीजेपी में दौड़ी खुशी की लहर

Advertisement

जब से ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कांग्रेस से इस्तीफा देकर बीजेपी में शामिल हुए हैं तब से मध्य प्रदेश में सियासी घमासान जारी है। इसी के संदर्भ में सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर की गई थी। इस मामले पर सुनाई करने के लिए मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने याचिका दायर की है.

इस याचिका में दावा किया है कि कमलनाथ सरकार बहुमत में नहीं है, इसलिए उन्हें सरकार चलाने का संवैधानिक रूप से कोई हक नहीं है। भाजपा ने मांग की है कि इस स्थिति में जल्द से जल्द फ्लोर टेस्ट कराया जाए ताकि स्थिति साफ हो सके।

आपको बता दूं कि सोमवार को राज्यपाल लालजी टंडन द्वारा बड़ा कदम उठाते हुए सीएम कमलनाथ को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि आप को बहुमत साबित करने के लिए कहा गया था लेकिन इस दिशा में आपके द्वारा कोई प्रयास नहीं किया गया है। अब आप 17 मार्च तक बहुमत साबित करें, वरना यह माना जाएगा कि आपको विधानसभा में बहुत प्राप्त नहीं है।

राज्यपाल के इस पत्र के बाद कांग्रेस पार्टी को सुप्रीम कोर्ट के फैसले से झटका लगा है भारतीय जनता पार्टी द्वारा दायर की गई याचिका पर सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने मध्यप्रदेश विधानसभा के स्पीकर और मुख्यमंत्री कमलनाथ से फ्लोर टेस्ट कराने पर जवाब मांगा है। इस पूरे मामले पर राज्यपाल का पक्ष जानने के लिए सुप्रीम कोर्ट ने राज्यपाल को भी नोटिस भेजा है।

Advertisement
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग न्यूज़

To Top