बॉलीवुड की क्वीन कंगना को मिला विक्रम गोखले का साथ

Copy

अभिनेत्री कंगना रनौत और उनके तीखे तेवर उन्हें कुछ लोगों प्रिय बना देते हैं ,तो कुछ लोगों को इनके विरोधी बना देते हैं।

कंगना ने दिया था बयान – आजादी भीख में मिली है

हाल ही में कंगना ने एक ऐसा बयान दिया था जिसे लेकर हर तरफ बवाल मच गया है ।उस बयान में कंगना ने ये भी कहा था कि भारत को आजादी 1947 में नहीं बल्कि 2014 में मिली है।

सही बोल रही हैं कंगना रनौत", समर्थन में साथ आए विक्रम गोखले - TFIPOST
kangana and gokhle

अभिनेत्री को मिला गोखले का समर्थन

अब आपको बता दें कि कंगना अकेले नहीं रही क्यूंकि अब उनके समर्थन में प्रसिद्ध मराठी अभिनेता विक्रम गोखले मैदान में उतर गए हैं ।विक्रम गोखले का खुल कर कंगना का साथ देने से सब हैरान हैं ।गोखले कंगना का समर्थन करते हुए कहते हैं कि मैं कंगना रनौत की बात से पूर्णतया सहमत हूं। उन्होंने बिल्कुल सही कहा है।हमे भीख में स्वतंत्रता मिली है ।कई स्वतंत्रता सेनानियों को फांसी पर लटका दिया था और उस समय के बड़े बड़े नेता मौनव्रत साधे हुए थे ।उन्होंने कुछ नहीं किया उन्हें बचाने के लिए ।

क्या है तर्क

विक्रम गोखले की माने तो कंगना ने जो कहा वो बिल्कुल सही था क्यूंकि क्रांतिकारियों के बलिदान पर तत्कालीन नेतृत्व महात्मा गांधी ,जवाहरलाल नेहरू इत्यादि ने कोई ध्यान नहीं दिया था।चाहे वो भगत सिंह ,सुखदेव या राजगुरु को समय से पहले दी गई फांसी हो , मास्टर दा सूर्य कुमार सेन को मृत्युदंड से पहले दी गई यातना हो ,या फिर उधम सिंह और मदनलाल ढींगरा की मृत्यु के बाद उनके शरीर का वर्षों तक लदंन कि कब्र में सड़ने देना हो ।तो जब इनपे किसे ने प्रश्न चिन्ह नहीं लगाया तो अब कंगना का विरोध क्यूं किया जा रहा है ।

शिव सेना और bjp को मिला लेना चाहिए हाथ

विक्रम गोखले ने कहा जब PM और गृह मंत्री अमित शाह चुनाव अभियान पर जाते हैं तो मै हर समय उनसे सहमत नहीं रहता हूं । परन्तु जब वे देश हित में कार्य करते हैं ,जैसे उन्होंने चीन को बैकफुट पर धकेला ,तब मैं सदैव उनका साथ देता हूं।गोखले ने वर्तमान में महाराष्ट्र सरकार शिवसेना के लिए कहा कि अभी भी कुछ नहीं बिगड़ा ,शिवसेना और बीजेपी को पुराने गिले शिकवे भुला हाथ मिला लेना चाहिए ।

कौन हैं विक्रम गोखले

विक्रम गोखले को यूं तो परिचय कि आवश्यकता नहीं है पर आपको बता दें कि विक्रम गोखले मराठी और हिंदी फिल्म उद्योग ,दोनों में बहुत सम्मानित नाम है ।अग्निपथ में इंस्पेक्टर गायतोंडे कि बात करें , या हम दी दे चुके सनम में पंडित दरबार कि ,या फिर उरी में मोदी जी की ।हर रोल गोखले ने बेहतरीन तरीके से निभाया है।उन्हें 2013 में मराठी फिल्म अनुमति के लिए इरफ़ान खान के साथ संयुक्त रूप से राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया था ।

कंगना को और किसका समर्थन

अब ये देखना है कि कंगना के समर्थन में और कौन मैदान में उतरते हैं।

Facebook Comments Box