Politics

बीजेपी का बड़ा खुलासा : उन्नाव पीड़िता की मौत पर प्रसपा का दावा, पांचों आरोपी बीजेपी के कार्यकर्ता

Advertisement

उन्नाव में हुआ गैंगरेप से पीड़ित लड़की की शुक्रवार देर रात मौत हो गई,दरअसल मामला दोस्ती शादी बलात्कार और जलाकर मार डालने की है लड़की इतनी बुरी तरह जल गई थी कि उसकी हालत एकदम नाजुक बन गई थी उसे बचाने के लिए उसे उन्नाव से लखनऊ और फिर उसकी गंभीर स्थिति को देखते हुए उसे एयर एंबुलेंस से दिल्ली लाया गया और सफ़दरजंग अस्पताल में भर्ती कराया गया,डॉक्टरों के मुताबिक उनका शरीर 90फ़ीसदी से ज्यादा जल गया था।अस्पताल में भर्ती कराने के वक्त ही उनकी हालत नाजुक बनी हुई थी डॉक्टरों की लाख कोशिशों के बावजूद भी उनकी मौत देर रात 11:40 पर हुई।

डॉक्टर बताते हैं कि उन्हें रात 11:10 पर दिल का दौरा पड़ा. उन्हें हम नहीं बचा सकें
उन्हें बचाने की कोशिश की लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. अस्पताल में मौजूद पीड़िता की बहन ने बताया कि जिन लोगों ने मेरी बहन के साथ यह गंदा काम किया, मैं चाहती हूं कि उन्हें भी मौत की सजा मिले हम उनके खिलाफ कोर्ट में लड़ाई को जारी रखेंगे ताकि हमें न्याय मिले,
उत्तर प्रदेश पुलिस के मुताबिक गुरुवार पीड़िता जिस वक्त मामले की सुनवाई के लिए कोर्ट जा रही थी तभी रास्ते में अभियुक्तों ने उसे घेर लिया और आग लगा दी.

यह भी पढ़ें-  congress will continue protest against farm act 2020 | नए कृषि कानूनों के खिलाफ जंग तेज करेगी कांग्रेस, किसानों से बात करेंगे राहुल

You May Like : हैदराबाद कांड : प्रियंका रेड्डी की पुकार सुन ली SP रेड्डी ने !जाने पूरा मामला

चुकी पीड़िता का घर स्टेशन से 2 किलोमीटर की दूरी पर है मगर रास्ता इतना सुनसान है कि भागने पर भी कोई मदद नहीं मिल पाएगा, पुलिस अधीक्षक विक्रांत वीर ने मीडिया को बताया कि पीड़िता ने इसी साल मार्च में 2 लोगों के खिलाफ रेप का मामला दर्ज कराया था वह उसी की सुनवाई के लिए जा रही थी तभी उसके साथ यह घटना हो गई, इस मामले में पुलिस ने 5 लोगों को अभियुक्त बनाया और चार को गिरफ्तार किया था और पांचवें अभियुक्त को शुक्रवार को गिरफ्तार किया।

यह भी पढ़ें-  congress will continue protest against farm act 2020 | नए कृषि कानूनों के खिलाफ जंग तेज करेगी कांग्रेस, किसानों से बात करेंगे राहुल

आईजी भगत के मुताबिक यह लड़का जेल भी गया था और कुछ दिन पहले ही जमानत पर छूटकर वापस आया था, पीड़िता के परिवार ने कहा कि जेल से आने के बाद लगातार वह धमकियां दे रहा था और पहले भी कई बार हमले की कोशिश भी की बार-बार केस वापस लेने की धमकी भी दी जब पीड़िता और परिवार वालों ने इसकी धमकियों से नहीं डरे तो 5 लोगों ने इस घटना को अंजाम दे दिया।

You May Like : शर्मनाक हार से मन नहीं भरा तो पाकिस्तानी खिलाड़ियों ने इस तरह करवाई खुद की बेइज्जती

जब मीडिया के जरिए मामला चर्चा में आया तो वहां की सरकार हरकत में आई और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ऐलान किया कि इलाज का सारा खर्च सरकार उठाएगी,
मगर वह इतनी बुरी तरह जल गई थी कि लाख कोशिशों के बावजूद भी उसे बचाया नहीं जा सका।

Advertisement
1 Comment

1 Comment

  1. Pingback: पटना में प्याज के दाम 100 रुपये तक पहुंचे, तो चिकेन की बिक्री 40 फीसदी गिरी

Leave a Reply

Your email address will not be published.

ट्रेंडिंग न्यूज़

To Top