T20 वर्ल्ड कप मुकाबले से पहले बौखलाया ये पाकिस्तान खिलाड़ी, विराट सेना को दी बड़ी चेतावनी

भारत और पाकिस्तान के बीच जब भी कोई मैच खेला जाता है तब यह मैच चर्चा का विषय बन जाता है. अक्सर भारत पाकिस्तान के बीच होने वाले मैच का इंतजार लोग बेसब्री से करते हैं. आपको बता कि भारत और पाकिस्तान के बीच 24 अक्टूबर को मैच खेला जाने वाला है जिसका इंतजार क्रिकेट प्रेमियों को बेसब्री से है.

इस मैच के होने से पहले ही पाकिस्तान के तेज गेंदबाज हसन अली ने बड़ा बयान दिया है. अली हसन ने कहा है कि पाकिस्तान की टीम भारत को इस मैच में हर आएगी और इस टूर्नामेंट का बेहतरीन शुरुआत करेगी.

पाकिस्तान रखता है दम

हसन ने कहा कि पाकिस्तान क्रिकेट टीम दुनिया की किसी भी टीम को हराने की क्षमता रखती है. पाकिस्तान टीम में ऐसे खिलाड़ी हैं जो किसी भी टीम को हराने की ताकत रखते हैं. हम इस टूर्नामेंट की शुरुआत भारत को हराकर करेंगे. उन्होंने कहा है कि हम वर्ल्ड कप जीतने की पूरी कोशिश करेंगे.

वर्ल्ड कप से पहले पाकिस्तान टीम में हुए हैं बदलाव

इसे भी पढ़ें..  Kuldeep Yadav: कुलदीप ने फेंकी अपनी सबसे खतरनाक गेंद, OUT होकर विरोधी खिलाड़ी ने किया ये काम और फिर

आपको बता दें कि T20 वर्ल्ड कप शुरू होने से पहले पाकिस्तानी क्रिकेट टीम में कई बदलाव किए गए हैं.इस टीम मे शोएब मलिक, सरफराज अहमद, फखर जमान और हैदर अली को जगह मिली है. हसन ने कहा है कि इस टीम में बदलाव होने से हमें कोई फर्क नहीं पड़ता हम आप से मेलजोल के साथ क्रिकेट खेलते हैं और हम वर्ल्ड कप जीतेंगे भी.

वर्ल्ड कप में पाकिस्तान आज तक नहीं जीता

आपको बता दें कि भारत और पाकिस्तान के बीच T20 वर्ल्ड कप में अभी तक 5 मुकाबले हुए हैं लेकिन पाकिस्तान इन पांचों मुकाबले में से कोई भी मुकाबला नहीं जीत पाया है.

2024 में PM मोदी फिर बनेंगे प्रधानमंत्री वंदे भारत ट्रेन में खराब खाने की शिकायत टीम इंडिया के इन 2 खिलाड़ियों ने ‘तिलक’ लगवाने से किया मना कौन हैं Devi Chitralekha, जो हर मामले में देती हैं Jaya Kishori को टक्कर देश में 834 लोगों पर केवल 1 डॉक्टर, 80 फीसदी एलोपैथिक
2024 में PM मोदी फिर बनेंगे प्रधानमंत्री वंदे भारत ट्रेन में खराब खाने की शिकायत टीम इंडिया के इन 2 खिलाड़ियों ने ‘तिलक’ लगवाने से किया मना कौन हैं Devi Chitralekha, जो हर मामले में देती हैं Jaya Kishori को टक्कर देश में 834 लोगों पर केवल 1 डॉक्टर, 80 फीसदी एलोपैथिक