बेटी की शादी से पहले ससुर ने मांगा मर्दानगी का प्रूफ, दामाद ने हाथ में थमा दिया अपना…

Copy

शादी से पहले अक्षर वर वधु के गोत्र और कुंडली मिलाया जाता है. हर देश में आज भी लोग शादी से पहले कुंडलियों का मिलान जरूर करते हैं. लेकिन अब यह कुंडलियों का मिलान करने की परंपरा पुरानी हो चुकी है.

आपको बता दें कि हाल के समय में कई सारी नई बीमारियां चली है जैसे थैलेसीमिया, एचआइवी, हेपेटाइटिस बी, हेपेटाइटिस सी आदि. लोगों के मन में इन बीमारियों को लेकर आजकल डर सा बैठ गया है. आपको बता दें कि कोलकाता का एक शख्स अपनी बेटी के लिए जब लड़की देखने गया तो उसने दमाद के स्पर्म जांच कर रिपोर्ट मांग लिया.

रिपोर्ट यह जानने के लिए मांगी गई है कि उनका भावी दामाद संतान पैदा करने में सक्षम है या नहीं. कोलकाता के पार्क स्ट्रीट के जाने-माने गायनेकोलाजिस्ट डा.इंद्रनील साहा ने ऐसी घटना के बारे में फेसबुक पर एक पोस्ट साझा किया है.

उन्होंने कहा की पिछले दिनों एक आदमी उनके पास शुक्रा’णुओं की संख्या की जांच कराने का अनुरोध लेकर आया था. उसने कहा कि उसके होने वाले ससुर की यह मांग है.यह सुनकर डा. साहा हैरत में पड़ गए. डा. साहा ने युवक को जांच रिपोर्ट दे दी तथा उसका नाम गुप्त रखा. उन्होंने अपने पोस्ट में लिखा है कि हो सकता है कि इसके बाद भावी ससुर जानना चाहेंगे कि भावी दामाद संबंध बनाने में सक्षम है या नहीं! डा. साहा यहीं नहीं रुके.

Marrige

उन्होंने लिखा है कि इसके बाद वर पक्ष कहीं भावी वधू की फैलोपियन ट्यूब की जांच रिपोर्ट की मांग न कर बैठे, जिससे यह पता चल सके कि वह मां बन सकती है या नहीं. डॉ शाह ने बताया कि एक सफल शादी के लिए शादी में प्यार और विश्वास का होना जरूरी है ना कि इस स्पर्म जांच की रिपोर्ट का.

एक संगठन ने कहा कि 19 नवंबर को अंतर्राष्ट्रीय पुरुष दिवस है इससे पहले दुनिया को इस जांच के बारे में बताया जाए और यह बताया जाए कि पुरुष समाज को लेकर आज भी कई लोगों में घटिया सोच है. हालांकि कई लड़कियों ने इसे सही भी बताया है.

Facebook Comments Box