नौकरियां जाने लगें तो संभल जाइए, मंदी दरवाजा खटखटा रही है जेफ बेज़ोस ने क्यों चेताया

अमेरिका समेत दुनिया के कई देशों में मंदी की आहट सुनाई दे रही है. कई दिग्गज कंपनियों ने अपने कर्मचारियों की छंटनी शुरू कर दी है. दुनिया के टॉप अमीर लोगों में से एक और Amazon के फाउंडर जेफ बेजोस ने लोगों को महंगी चीजें खरीदने से बचने की सलाह दी है. जेफ बेजोस ने कहा कि आर्थिक हालात दिन-ब-दिन खराब होते जा रहे हैं। इसलिए अपने हाथ में कुछ नकदी रखना बुद्धिमानी है। उन्होंने कहा, ‘इस समय जोखिम से बचना चाहिए।

Jeff Bezos warned
मंदी दरवाजा खटखटा रही है जेफ बेज़ोस ने क्यों चेताया

अगर आप जोखिम को थोड़ा कम करते हैं, तो इससे बहुत फर्क पड़ता है।’ जेफ बेजोस ने सीएनएन को दिए एक इंटरव्यू में कहा कि मंदी का असर लंबे समय तक रहने वाला हो सकता है। इसलिए लोगों को महंगी चीजें जैसे नई कार, टीवी और उपकरण खरीदने से बचना चाहिए और खुद को मंदी के लिए तैयार करना चाहिए। उन्होंने यह भी कहा कि अनिश्चितता के इस माहौल में छोटी कंपनियों को बड़े पूंजीगत व्यय या अधिग्रहण से बचना चाहिए।

इसे भी पढ़ें..  ट्विटर ने जारी किया लाइव ट्वीटिंग फीचर, इवेंट के दौरान ट्वीट करना होगा आसान, ऐसे करेगा काम

हाल ही का ट्वीट

जेफ बेजोस रिटेल दिग्गज Amazon के संस्थापक और पूर्व सीईओ हैं। Amazon दुनिया भर में 10,000 कर्मचारियों की छंटनी करने की तैयारी कर रहा है। इससे पहले ट्विटर भी अपने आधे कर्मचारियों की छंटनी कर चुका है, जबकि फेसबुक की पैरेंट कंपनी मेटा ने भी 10 हजार से ज्यादा कर्मचारियों की छंटनी की है. कर्मचारियों की संख्या के हिसाब से Amazon, Walmart के बाद अमेरिका की दूसरी सबसे बड़ी कंपनी है

मंदी किसे कहेंगे?

उदाहरण के लिए, हाल ही में दुनिया को कोविड महामारी का सामना करना पड़ा। यूक्रेन-रूस युद्ध एक साल से अधिक समय से चल रहा है। अरब देश लगातार गृहयुद्ध की स्थिति में हैं। इन सबका मिलाजुला असर दूसरे देशों की अर्थव्यवस्था पर भी देखने को मिल रहा है। मंदी का अर्थ है धीमा होना। अर्थव्यवस्था की बात करें तो जब किसी देश की अर्थव्यवस्था धीमी हो जाती है। अगर जीडीपी गिरने लगे और यह स्थिति लगातार दो तिमाहियों तक बनी रहे तो माना जाता है कि देश आर्थिक मंदी में है। इसके लिए युद्ध, गृहयुद्ध, बीमारी जैसी कई स्थितियां जिम्मेदार हैं।

इसे भी पढ़ें..  बाजार में आते ही मचा दिया घमासान, Motorola का 5G फ़ोन कीमत सिर्फ 7499 रुपये, मिलेगा 32 घंटे की बैटरी बैकअप

हालांकि, लोग अभी भी बाजार में निवेश नहीं करेंगे, चाहे वे आम लोग हों या बड़े व्यापारी। इसके बाद भी मंदी आती है। यही वजह है कि किसी भी देश का बैंक ब्याज दरें बढ़ाते समय काफी गणित लगाता है। इस दौरान बैंक महंगाई को नियंत्रित करने के लिए ब्याज दरों में बढ़ोतरी करते हैं। अब अगर ब्याज दर बढ़ती है तो लोग खरीदारी कम कर देंगे। खरीदारी कम होगी तो चीजों के दाम बढ़ेंगे।

महंगाई कई साल के उच्चतम स्तर पर है। खासकर खाने-पीने, ईंधन और आवास जैसी चीजों के दाम बेतहाशा बढ़ गए हैं। जेफ बेजोस से पहले कई और दिग्गजों ने भी मंदी की आशंका जताई थी। Tesla के सीईओ और दुनिया के सबसे अमीर शख्स एलोन मस्क ने पिछले महीने कहा था कि यूरोप और चीन में मंदी जैसे हालात हैं। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में Tesla की बिक्री में गिरावट आ सकती है। जेपी मॉर्गन चेस के सीईओ जेमी डिमन ने अक्टूबर में कहा था कि अमेरिका छह से नौ महीनों में मंदी की चपेट में आ सकता है।

इसे भी पढ़ें..  Web Series : फ्री में भी नहीं देखना ये सीरीज़, नहीं तो हो जायेगा रात भी ख़राब और बेड भी ख़राब..

फिलहाल राहत की बात यह है कि अर्थशास्त्री समेत सभी लगातार कह रहे हैं कि हमें मंदी का खतरा नहीं है. हाल ही में आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास ने भी इस बारे में बात की थी। हालांकि अमेरिका और ब्रिटेन जैसे देशों की सुस्त पड़ी अर्थव्यवस्था के बीच कोई पूरी तरह से उदासीन नहीं हो सकता।

Srinidhi Shetty मिस मैरियोनियल से KGF मूवी तक का सफर काफ़ी दिलचस्प रहा Akshara Singh का ये लुक देखते ही पापा हुए गुस्सा से आग – बबूला Sakshi singh Rawat Dhoni की पत्नी किसी हीरोइन से कम नहीं Shraddha Arya डीप नेक ब्लाउज-ट्रांसपेरेंट साड़ी में TV एक्ट्रेस का जलवा Janhvi Kapoor ने बिना मेकअप फोटो साझा किया
Srinidhi Shetty मिस मैरियोनियल से KGF मूवी तक का सफर काफ़ी दिलचस्प रहा Akshara Singh का ये लुक देखते ही पापा हुए गुस्सा से आग – बबूला Sakshi singh Rawat Dhoni की पत्नी किसी हीरोइन से कम नहीं Shraddha Arya डीप नेक ब्लाउज-ट्रांसपेरेंट साड़ी में TV एक्ट्रेस का जलवा Janhvi Kapoor ने बिना मेकअप फोटो साझा किया