देश-समाज

अपने अफेयर की खबरों के बीच बबीता जी ने लिखा एक ओपन लेटर,बोलीं –’खुद को भारत की बेटी कहने पर आती है शर्म’

बबीता जी को कौन नहीं जानता, तारक मेहता का उल्टा चश्मा की फेम बबीता जी लगभग हर किसी की पसंद है. तारक मेहता के उल्टा चश्मा से उन्होंने बहुत नाम कमाया. वह अपनी अपनी एक्टिंग और अदाओं से लोगों के दिलों पर राज करती हैं. लेकिन वह अपनी निजी जिंदगी को लेकर अक्सर सुर्खियों में बनी रहती है. कई बार वह सोशल मीडिया पर अपनी पोस्ट के जरिए ट्रोलरस का शिकार हो जाती हैं. इस बार वह एक सोशल मीडिया पोस्ट पर जमकर अपनी भड़ास निकाली है. इस बार सोशल मीडिया पर मुनमुन दत्ता ने एक ओपन लेटर लिखा है. इस लेटर को लिखते हुए एक्ट्रेस ने कहा है कि उन्हें खुद को भारत की बेटी कहते हुए भी शर्म आती है।

मुनमुन दत्ता ने अपने इस लेटर में कई सारी बातें लिखी हैं, उन्होंने लिखा है कि ‘आम लोगों के लिए, मुझे आपसे कुछ अच्छे की उम्मीद थी, लेकिन वो गंदगी जो आपने कमेंट सेक्शन में बरसाई हैं, उसे पढ़ने के बाद ये साबित हो जाता है कि हम पढ़े लिखे होने के बाद भी ऐसे समाज का हिस्सा हैं, जो लगातार नीचे गिर रहा है। महिलाओं को लगातार आपके हास्य के लिए उनकी उम्र से शर्मसार किया जाता है। आपके इस तरह के मजाक से किसी के जीवन पर क्या बीतती है, ये  किसी को भी मानसिक रूप से तोड़ने के लिए काफी है। इसकी चिंता आपको कभी नहीं होगी, मैं लोगों का पिछले 13 साल से मनोरंजन कर रही हूं। लेकिन लोगों को 13 मिनट नहीं लगे मेरी सम्मान को ठेस पहुंचाने मे.

मुनमुन दत्ता ने दूसरे लेटर में लिखा है कि ‘ तो अगली बार कोई इतना डिप्रेस हो जो अपनी जान लेना चाहें, तो रुक कर एक बार सोचना जरूर सोचें कि आपके शब्द उसे अंत की तरफ ले जा रहे हैं या नहीं। ‘आज मुझे खुद को भारत की बेटी कहते हुए शर्म आ रही है।’

मुनमुन दत्ता ने जमकर सोशल मीडिया पर अपनी भड़ास निकाली है. पिछली बार हमने आपको बताया था कि मुनमुन दत्ता और राज अंडकट के बीच रिलेशनशिप की खबरें तेजी से वायरल हो रही है. यह बात सोशल मीडिया पर काफी तेजी से वायरल हो रही थी. जिसके बाद से मुनमुन दत्ता काफी परेशान हो गए और उन्होंने सोशल मीडिया पर लोगों की जमकर क्लास लगाई.

मुनमुन दत्ता ने अपने पोस्ट और न्यूज़ के जरिए झूठी खबर अफवाह फैलाने वाले मीडिया की क्लास लगा दी है. उन्होंने कहा है कि – मीडिया और जीरो क्रेडिबिलिटी वाले जर्निस्ल्ट। आपको किसी की प्राइवेट लाइफ के बारे में इस तरह की काल्पनिक बातें छापने की आजादी किसने दी है और वो भी उनकी मर्जी के बिना? आपके इस तरह के व्यवहार से सामने वाली की छवि को जो नुक्सान पहुंचता है, क्या आप उसके लिए रेस्पोंसिबल होगे? आप टीआरपी के लिए उस औरत तक को नहीं छोड़ते जिसने हाल में ही अपना बेटा खोया है। आप सेंसेशनल खबरों के लिए अपनी हद तक पार कर देते हैं। इस वजह क्या आप उनकी जिंदगी में आने वाले तूफानों की जिम्मेदारी ले सकते हैं? यदि नहीं, तो आपको शर्म आनी चाहिए’।

मुनमुन दत्ता किया ओपन लेटर काफी वायरल हो रही है. और यह बात सोचने वाली है कि क्या सच में किसी के निजी जीवन के बारे में ऐसी बातें लिखना सही है.

Jyoti Mishra

Leave a Comment

Recent Posts