Advertisement
Categories: देश

6 साल तक ऐसे Delhi Police को परेशान करता रहा यह वांटेड ‘सब इंस्पेक्टर’, यूपी में दबोचा | meerut – News in Hindi

6 साल से यह फर्जी सब इंस्पेक्टर दिल्ली पुलिस को परेशान कर रहा था.

नई दिल्ली. एक सब इंस्पेक्टर (Sub inspector) 6 साल से दिल्ली पुलिस (Delhi Police) को परेशान कर रहा था. पुलिस उसे लगातार पकड़ने की कोशिश कर रही थी, लेकिन वो फरार हो जाता था. एक साल पहले पुलिस ने उसे अपराधी (Criminal) भी घोषित कर दिया था. हाल ही में पुलिस को जानकारी मिली है कि वांटेड (Wanted) सब इंस्पेक्टर यूपी के मेरठ (Meerut) में है. सुराग लगाते हुए पुलिस उसके घर पहुंच गई. पुलिस को देखकर इंस्पेक्टर ने खुद को कमरे में बंद कर लिया. आरोप है कि रोबिन खान नाम का यह फर्जी सब इंस्पेक्टर वर्दी का रौब दिखाकर दर्जनों लोगों को चूना लगा चुका है.

वर्दी पहनकर दिल्ली और राजस्थान में करता था वारदात

दिल्ली के राजोरी गार्डन थाना पुलिस ने एक ऐसे जालसाज को गिरफ्तार किया है जो कई सालों से खुद को दिल्ली पुलिस का सब इंस्पेक्टर बताकर ठगी को अंजाम दे रहा था. इसने दिल्ली में कई लोगों को अपना शिकार बनाया था. साल 2014 में इसके खिलाफ तिमारपुर थाने में मामला दर्ज किया गया था. एक शख्स ने सब इंस्पेक्टर रोबिन खान के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई थी. लेकिन मामला दर्ज होते ही ये वहां से फरार हो गया था.

ये भी पढे़ं-Hathras Case: CBI आज पीड़ि‍ता की भाभी और मां से कर सकती है पूछताछदिल्ली के बाद इसने राजस्थान में कई लोगों पर इसी तरह वर्दी का रौब झाड़कर पैसे ऐंठे थे. नकली सब इंस्पेक्टर शामली इलाके का रहने वाला है. पुलिस ने अब तक इससे जुड़े 3 मामलों का पता लगा लिया है. वही अब तक खुद रोबिन खान ने एक दर्जन से ज्यादा मामलों में जालसाजी को कबूला है. पुलिस को शक है कि 2014 से अब तक ये कई इलाकों में वर्दी पहनकर लोगों को झांसा देता रहा है.

एयर इंडिया के नाम पर ऐसे लगाया 60 लाख का चूना

दक्षिण पश्चिम जिले की साइबर सेल ने एयर इंडिया के नाम पर चल रहे फर्जी जॉब रैकेट का भंडाफोड़ किया है. इस रैकेट के एक महिला समेत 3 लोगों को गिरफ्तार किया है. यह लोग फर्जी कॉल सेंटर के जरिए अब तक 100 से ज्यादा लोगों को अपनी जालसाजी का शिकार बना चुके हैं. ये गैंग नौकरी पाने वालों को WWW.SHINE.COM के जरिए फंसाते थे.

इन आरोपियों ने लाखों रुपए की धोखाधड़ी को अंजाम दिया है. फर्जी आधार कार्ड पर 12 बैंक खातों की पहचान भी हुई है. मोबाइल फोन, चेकबुक और डेबिड कार्ड भी बरामद किए गए हैं. ये कॉल सेंटर नोएडा से चलाया जा रहा था. इस गैंग में महिला खुद एचआर बनकर लोगों को पैसा खातों में डलवाने के लिए बोलती थी. जब्त खातों में से लगभग 60 लाख की रकम क्रेडिट की गई है जबकि 47 हज़ार फ्रीज कर दिए गए हैं.


Source link

Leave a Comment
Advertisement

This website uses cookies.