43 साल पहले 3500 के शेयर्स खरीदकर भूल गया था यह शख्स, आज बन गया 1448 हजार करोड़ रुपये का मालिक

कहते है ज़ब किस्मत बदलती है तो सब कुछ बदल जाता है. यही कहानी है वालावी की.केरल में कोच्चि के बाबू जॉर्ज वालावी ने आज से 43 साल पहले 3500 शेयर्स खरीदे थे. इस शेयर को खरीदने के बाद वो इसे भूल गए. लेकिन अब जब उन्हें याद आया तो पता चला कि आज उन शेयर्स की कीमत 1448 करोड़ रुपये हो गयी है. यह बात तब सामने आया जब कंपनी उन्हे इन शेयर्स के पैसे नहीं देना चाहती है.

74 साला जॉर्ज ने इस मामले को लेकर भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड के पास अर्जी की है. उन्होंने कहा है कि कंपनी के असली शेयर्स के मालिक वह हैं, और कंपनी उन्हें अब उनकी ही रकम देने से इनकार कर रही है. हालांकि इन सबके बाद उन्हें यह उम्मीद है कि सेबी उनकी मदद जरूर करेगा.

बाबू जॉर्ज वालावी का दावा है कि 1978 में उन्होने राजस्थान के उदयपुर की कंपनी मेवाड़ ऑयल एंड जनरल मिल्स लिमिटेड कंपनी से 3500 शेयर्स खरीदे थे. जॉर्ज ने बताया कि कंपनी के चेयरमैन पीपी सिंघल जॉर्ज के दोस्त थे. लेकिन उस वक्त कंपनी अनलिस्टेड थी. इसी वजह से वह अपने शेयर्स के बारे में भूल गए, लेकिन 2015 में बाबू ने जब फिर से इस मामले की पड़ताल की तो पता लगा कि कंपनी ने नाम बदलकर पीआई इंडस्ट्रीज कर लिया है.

बाबू ने जब यह जाना कि यह कंपनी लिस्टेड हो चुकी है तो उन्होने शेयर्स को डीमेट अकाउंट में तब्दील करने की कोशिश की और एक एजेंसी से संपर्क किया. इसके बाद, एजेंसी ने बाबू को सीधे कंपनी से संपर्क करने की सलाह दी. कंपनी से संपर्क करने पर बाबू को पता चला कि उनके शेयर्स कंपनी ने 1989 में किसी और को बेच दिए थे. यानी अब जॉर्ज को कंपनी उनका प्रॉफ़िट नहीं देना चाहती है.2016 में पीआई इंडस्ट्रीज ने बाबू को मध्यस्थता के लिए बुलाया लेकिन इसके उन्होंने लिए इंकार कर दिया था.

अब आगे यह देखना है कि क्या वालावी का शेयर उन्हें मिल पाएगी.