Advertisement
Categories: देश

संविधान में बंगाल में हो रही हिंसा से निपटने के कई प्रावधान मौजूद है: बाबुल सुप्रियो

केंद्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो. (फाइल फोलो-PTI)

कोलकाता. केन्द्रीय मंत्री बाबुल सुप्रियो (Union Minister Babul Supriyo) ने शुक्रवार को कहा कि तृणमूल कांग्रेस को ‘मतदाताओं को डराना-धमकाना’ बंद करना चाहिए, नहीं तो संविधान में इससे निपटने के प्रावधान मौजूद हैं. सुप्रियो ने आरोप लगाया कि पश्चिम बंगाल में 130 से अधिक भाजपा (BJP) कार्यकर्ताओं की हत्या की गई है.

डराना-धमकाना बंद करे ममता सरकार
उन्होंने एक स्थानीय समाचार चैनल को कहा, ‘तृणमूल कांग्रेस को अपने तौर-तरीके बदलने चाहिए. चुनाव में अब कुछ महीने ही बचे हैं. अगर तृणमूल के सदस्यों को लगता है कि वे मतदाताओं को डरा-धमका सकते हैं और राजनीतिक हिंसा कर सकते हैं, तो संविधान में इससे निपटने के प्रावधान मौजूद हैं.’

‘भाजपा को वोट देने का मन बना लिया ‘सुप्रियो ने दावा किया कि राज्य के लोगों ने विधानसभा चुनाव में भाजपा को वोट देने का मन बना लिया है. यहां चुनाव अगले साल अप्रैल-मई में होने हैं. उन्होंने कहा, ‘ हम चाहते हैं कि तृणमूल को सत्ता में लाने वाले लोग अब लोकतांत्रिक प्रक्रिया के माध्यम से ही वर्तमान सरकार को गिराएं.’

ये भी पढ़ें:- Corona जांच को लेकर दिल्ली में आज से शुरू हो रहा है सबसे बड़ा सर्वे

तृणमूल कांग्रेस का पलटवार
वहीं, तृणमूल ने कहा कि सुप्रियो ऐसा कहकर राज्य में राष्ट्रपति शासन लगाने का संकेत दे रहे हैं. तृणमूल कांग्रेस के सांसद सौगत रॉय ने कहा, ‘अगर वह राज्य में धारा 356 लगाने का संकेत दे रहे हैं, तो वह पहले उत्तर प्रदेश में राष्ट्रपति शासन लगाने की बात करें, जहां कानून के शासन का अस्तित्व ही समाप्त हो गया है.’


Source link

Leave a Comment

Recent Posts

Advertisement

This website uses cookies.