Advertisement

रोहित शर्मा-पुजारा के साथ वर्ल्ड कप खेल चुके इस भारतीय खिलाड़ी ने लिया संन्यास

यो महेश ने क्रिकेट के सभी फार्मेट से संन्यास ले लिया है.

भारतीय क्रिकेटर यो महेश (Yo Mahesh) ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास ले लिया है. आज अपना 33वां जन्मदिन मना रहे यो महेश ने पिछले 14 सालों में 50 फर्स्ट क्लास, 61 लिस्ट ए और 46 टी-20 मुकाबले खेले हैं. 2006 में अंडर 19 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम के सदस्य रहे महेश आईपीएल में चेन्नई सुपरकिंग्स और दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए भी खेल चुके हैं. उन्होंने अपना आखिरी मुकाबला तमिलनाडु प्रीमियर लीग (TNPL) में अगस्त 2019 में खेला था.

अपने करियर में चोटों से परेशान रहे इस तेज गेंदबाज के नाम फर्स्ट क्लास मैचों में 108, लिस्ट ए में 60 और टी-20 मैचों में 52 विकेट दर्ज है. आईपीएल में उन्होंने 18 मुकाबले खेले हैं जिसमें 21 विकेट हासिल करने में सफल रहे.

बीसीसीआई को दिया धन्यवाद
यो महेश ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) को धन्यवाद देते हुए खहा, ‘मैं बीसीसीआई का शुक्रिया अदा करता हूं जिसने मुझे अंडर-19 और इंडिया-ए के स्तर पर भारत का प्रतिनिधित्व करने का मौका दिया. यह मेरे लिए सम्मान की बात रही है. मैं पूरे गर्व के साथ इसे अपने करियर का सबसे अच्छा समय कहता हूं.’अपने करियर में चोटों से परेशान रहे महेश
तमिलनाडु के तेज गेंदबाज यो महेश अपने पूरे करियर में चोटों के चलते परेशान रहे. लंदन में अपने घुटनों का ऑपरेशन करवाने के बाद वह साल 2017 में पांच साल बाद फर्स्ट क्लास क्रिकेट में वापसी करने में सफल रहे थे. फर्स्ट क्लास में उनके नाम दो शतकों की बदौलत 1119 रन दर्ज है. चोट से उबरने के बाद उन्होंने मुंबई के खिलाफ साल 2017 में नाबाद 103 रनों की पारी खेली थी.

यह भी पढ़ें:

India Vs Australia: अपनी आलोचनाओं पर पृथ्वी शॉ ने तोड़ी चुप्पी, दिया ये करारा जवाब

IND vs AUS: टीम इंडिया के लिए आई बुरी खबर, टेस्‍ट सीरीज से बाहर हुए मोहम्‍मद शमी!

2006 में वर्ल्ड कप टीम का हिस्सा
यो महेश ने 2006 में अपना फर्स्ट क्लास करियर बंगाल के खिलाफ शुरू किया था. इसके बाद वह अंडर-19 वर्ल्ड कप के लिए रोहित शर्मा, रवींद्र जडेजा और चेतेश्वर पुजारा के साथ चुने गए. टीम इंडिया को फाइनल तक पहुंचाने में यो महेश का अहम योगदान रहा. इस टूर्नामेंट में यो महेश भारत की ओर से विकेट लेने में दूसरे नंबर पर रहे थे. उन्होंने छह मैच में 11 विकेट लिए थे. उनके ज्यादा पीयूष चावला ने 13 विकेट झटके थे.

आईपीएल में शानदार शुरुआत
यो महेश आईपीएल के पहले सीजन (2008) में सबसे सफल खिलाड़ियों में से एक थे. उन्होंने दिल्ली डेयरडेविल्स की ओर से खेलते हुए अपनी टीम की ओर से सबसे ज्यादा 16 विकेट चटकाए थे. बाद में चेन्नई के लिए उन्होंने पांच मैच खेले और तीन विकेट लिए.


Source link

Leave a Comment
Advertisement

This website uses cookies.