Advertisement
Categories: देश

मित्र सप्तमी पर सूर्य देव होंगे अर्घ्य से प्रसन्न, इस विधि से करें पूजा

मित्र सप्तमी 2020 (Mitra Saptami 2020): आज 21 दिसंबर, सोमवार को मित्र सप्तमी 2020 (Mitra Saptami 20209) मनाई जा रही है. मार्गशीर्ष माह के शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को मित्र सप्तमी कहा जाता है. हिंदू धर्म में मित्र सप्तमी के दिन सूर्य देव की पूजा का प्रावधान है. इस दिन सूर्य देव की पूजा अर्चना करने और भोर में अर्घ्य देने पर विशेष फल की प्राप्ति होती है. यह भी माना जाता है कि मित्र सप्तमी को जब सूर्योदय होने के समय आकाश में सूर्य की लालिमा छाती है तब मुंडन संस्कार करा कर पवित्र नदी में स्नान करने से विशेष फल की प्राप्ति होती है. भक्त इस दिन षोडशोपचार पूजन करते हैं और सूर्य देव की कृपा प्राप्त करने के लिए व्रत भी रखते हैं. आइए जानते हैं सूर्य सप्तमी के दिन सूर्य देव की कृपा पानी के लिए करना होगा क्या काम….

मित्र सप्तमी पर सूर्य देव की पूजा विधि:
मित्र सप्तमी के दिन भोर में ही निद्रा को त्यागकर नियकर्म और स्नान निपटा लेने के बाद पवित्र सरोवर (नदी या जलाशय) में जाकर सूर्य देव को अर्घ्य देना चाहिए. अगर आप ऐसा नहीं कर पाते हैं तो घर के ही आंगन या ऐसे किसी खुले भाग में जहां से सूर्य देव के दर्शन होते हों में एक पैर के आधा भाग को उठाकर लाल रंग के चन्दन, लाल फूल, चावल को तांबे के बर्तन में रखकर सूर्य देव को अंजलि से 3 बार अर्घ्य देना चाहिए.

आज दोपहर के समय सूर्य देव को केवल एक बार अंजलि से अर्घ्य देना चाहिए और शाम के समय भूमि पर आसन लगाकर बैठ जाएं और इसके बाद अंजलि से सूर्य देव को तीन बार अर्घ्य दें. इस बात का बेहद ख्याल रखें कि अर्घ्य का जल पैर से न लगे.सूर्य देव की स्तुति:

विकर्तनो विवस्वांश्च मार्तण्डो भास्करो रविः।
लोक प्रकाशकः श्री माँल्लोक चक्षुर्मुहेश्वरः॥
लोकसाक्षी त्रिलोकेशः कर्ता हर्ता तमिस्रहा।
तपनस्तापनश्चैव शुचिः सप्ताश्ववाहनः॥
गभस्तिहस्तो ब्रह्मा च सर्वदेवनमस्कृतः।

एकविंशतिरित्येष स्तव इष्टः सदा रवेः॥
‘विकर्तन, विवस्वान, मार्तण्ड, भास्कर, रवि, लोकप्रकाशक, श्रीमान, लोकचक्षु, महेश्वर, लोकसाक्षी, त्रिलोकेश, कर्ता, हर्त्ता, तमिस्राहा, तपन, तापन, शुचि, सप्ताश्ववाहन, गभस्तिहस्त, ब्रह्मा और सर्वदेव नमस्कृत- इस प्रकार इक्कीस नामों का यह स्तोत्र भगवान सूर्य को सदा प्रिय है।’ (ब्रह्म पुराण : 31.31-33) (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.)


Source link

Leave a Comment
Advertisement

This website uses cookies.