Advertisement
Categories: मनोरंजन

फिर टूटा सुशांत सिंह राजपूत के फैंस का दिल, फिल्म ‘दिल बेचारा’ को लेकर सामने आई ऐसी खबर | bollywood – News in Hindi

फिल्म ‘दिल बेचारा (Dil Bechara)’24 जुलाई को डिजिटली रिलीज कर दी गई थी (फिल्म पोस्टर)

नई दिल्ली. बॉलीवुड के मशहूर एक्टर सुशांत सिंह राजपूत (Sushant Singh Rajput) के निधन के 4 महीने बाद भी उनके चाहने वाले सोशल मीडिया पर उनकी याद में लगातार पोस्ट करते नजर आ रहे हैं. ट्विटर पर तो आए दिन सुशांत को इंसाफ दिलाने के लिए इतने ट्वीट्स किए जाते हैं कि उनका नाम ट्रेंड करने लगता है. इसके अलावा फैंस सुशांत की तस्वीरें और वीडियोज भी लगातार शेयर करते दिखते हैं. सुशांत का अचानक से सुसाइड कर लेना उनके परिवार से लेकर उनके चाहने वालों के लिए बहुत बड़ा झटका था, जिससे वे अभी तक उबर नहीं पाएं हैं.

कुछ ऐसा चाह रहे थे सुशांत के फैंस
ऐसे में सुशांत की आखिरी फिल्म ‘दिल बेचारा (Dil Bechara)’ को लेकर ऐसी खबर सामने आई है, जो एक बार फिर से उनके फैंस के दिलों को तोड़कर रख दिया है. दरअसल, सुशांत की फिल्म ‘दिल बेचारा’ जब ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज होने वाली थी, तब उनके फैंस ने ये आवाज उठाई थी कि इस फिल्म को वे बड़े पर्दे पर देखना चाहते हैं, इसलिए इसे सिनेमाघरों में ही रिलीज किया जाए. हालांकि, उस दौरान लोग कोरोना की संकट से भी जूझ रहे थे, इसलिए लॉकडाउन के कारण सारे सिनेमाघर भी बंद पड़े थे. फैंस का मानना था कि जब भी सिनेमाघर खोले जाएंगे, तभी इस फिल्म को रिलीज किया जाए, लेकिन ऐसा हुआ नहीं और फिल्म 24 जुलाई को डिजिटली रिलीज कर दी गई.

फिर से टूटा सुशांत के चाहने वालों का दिलफिल्म का ओटीटी पर रिलीज होना सुशांत के फैंस के लिए एक झटका था, क्योंकि वो सुशांत की आखिरी फिल्म सिनेमाघरों में देखना चाहते थे. इसके बावजूद फैंस सिनेमाघर खुलने का इंतजार कर रहे थे, उन्हें पूरी उम्मीद थी कि सिनेमाघर फिर से खुलते ही सुशांत की फिल्म ‘दिल बेचारा’ को जरूर रिलीज किया जाएगा, लेकिन इस बार भी ऐसा नहीं हुआ. फिल्म समीक्षक तरण आदर्श ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर एक पोस्ट के जरिए यह जानकारी दी कि इस फिल्म को सिनेमाघरों में अब रिलीज नहीं किया जाएगा, जिससे सुशांत के फैंस का दिल एक बार फिर से टूट गया है.

‘दिल बेचारा’ के जरिए सुशांत लोगों को दे गए ऐसा संदेश
सुशांत की ‘दिल बेचारा’ एक इमोशनल लव स्टोरी फिल्म है, जिसे देख आपकी आंखें भर आती हैं. उन्होंने अपनी आखिरी फिल्म के जरिए लोगों को यह बताने की कोशिश की है कि इस दुनिया में प्यार से बड़ा कुछ नहीं है. एक ऐसा शख्स जो फिल्म में जिंदगी और मौत के बीच खड़ा है, वह मरने वाला है… लेकिन फिर भी जिंदगी के बचे कुछ पलों को वह प्यार के साथ जीना चाहता है, मुस्कुराना चाहता है और एक-दूसरे के बीच प्यार बांटना चाहता है. फिल्म में सुशांत की इस सोच का लोगों पर गहरा प्रभाव पड़ेगा और शायद वह यही चाहते भी होंगे.


Source link

Leave a Comment
Advertisement

This website uses cookies.