Advertisement
Categories: देश

नेताओं को निशाना बनाने के लिए भेजी जा रही कोविड-19 संक्रमित चिट्ठी, इंटरपोल ने दी चेतावनी

इंटरपोल ने अपनी गाइडलाइन्स में किसी ऐसे उदाहरण का जिक्र नहीं किया गै जहां राजनीतिक कद के किसी व्यक्ति को कोविड संक्रमित पत्र भेजे गए थे.

नई दिल्ली. दुनिया भर में कोरोना संक्रमण का खतरा अभी टला नहीं हैं. कई देशों में जहां संक्रमण के कुछ मामले आने लगे थे वहां भी अब हालात फिर से गंभीर हो रहे हैं. इस बीच एक अंतरराष्ट्रीय एजेंसी ने दावा किया है कि दिग्गज राजनीतिक शख्सियतों को कोविड संक्रमित दस्तावेजों के जरिए निशाना बनाया जा सकता है.

अंतरराष्ट्रीय आपराधिक पुलिस संगठन – इंटरपोल (Interpol) ने दुनिया भर की सुरक्षा एजेंसियों को चेतावनी दी है कि वे सावधानी बरतें और कोविड -19 से संक्रमित दस्तावेज से सावधान रहें. Interpol ने दावा किया है कि कोविड संक्रमित चिट्ठियों या दस्तावेजों के जरिए राजनीतिक शख्सियतों निशाना बनाया जा सकता है. हाल ही में जारी की गई गाइडलाइन्स के अनुसार इंटरपोल ने दुनिया के अन्य देशों समेत भारत की जांच एजेंसियों को भी चेतावनी दी है. जिसमें विभिन्न कार्य-प्रणाली के आधार पर निगरानी बढ़ाने पर विचार किया गया है.

कुछ कोविड -19 संक्रमित चिट्ठियां मिली
इंटरपोल ने कहा है कि राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और अन्य वैश्विक नेताओं को निशाना बनाकर कोरोना संक्रमित चिट्ठियां भेजी जा सकती है. इससे बहुत ही सतर्क रहने की आवश्यकता है. इंटरपोल के अनुसार दुनिया के बड़े नेताओं और दिग्गज लोगों को संक्रमित करने की साजिश रची जा रही है.दिशानिर्देशों में कहा गया है, ‘जांच एजेंसियों के अधिकारियों, डॉक्टर्स और एशेंसियल वर्कर्स को डराने के लिए उनके चेहरे पर खांसने और थूकने के उदाहरण सामने आए है. अगर ऐसा करने वाला कोविड संक्रमित है तो इससे खतरा और बढ़ सकता है. कहा गया है ‘सतहों और वस्तुओं पर थूकने और खांसने से जानबूझकर संक्रमण फैलाने के प्रयास की सूचना मिली है. कुछ कोविड -19 संक्रमित चिट्ठियां मिली हैं जिनसे राजनीतिक शख्सियतों को निशाना बनाया जा सकता है. यह काम करने वाले अन्य समूहों को भी प्रभावित कर सकते हैं.’

अंतरराष्ट्रीय एजेंसी ने कहा कि कुछ लोग कोरोना संक्रमित होने के बावजूद  जानबूझकर ऐसे इलाकों में जा सकते हैं जो प्रभावित नहीं हैं. साथ ही बॉडी फ्लूड्स के संक्रमित सैंपल्स को ऑनलाइन बेचने का दावा करने वालों की सूचना मिली है. Interpol ने गाइडलाइन्स में सभी विभागों से सतर्क रहने को कहा है.


Source link

Leave a Comment
Advertisement

This website uses cookies.