Advertisement
Categories: देश

नए रूप में नजर आएगा त्रिचुरापल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट, यात्रियों को मिलेगी ये सुविधाएं | business – News in Hindi

त्रिचुरापल्ली इंटरनेशनल एयरपोर्ट के अपग्रेडेशन का कार्य जारी है.

त्रिचुरापल्ली. भविष्य में यात्रियों की मांग को देखते हुए एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (Airports Authority of India) देश के विभिन्न एयरपोर्ट का कायाकल्प करने में लगी हुई है. इसी कड़ी में त्रिचुरापल्ली एयरपोर्ट (Tiruchirappalli Airport) का भी एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया कायाकल्प रही है. शहर से 5 किमी दूर स्थित इस एयरपोर्ट में एक नया इंटीग्रेटेड पैसेंजर टर्मिनल बिल्डिंग और एयर ट्रैफिक कंट्रोल (Air Traffic Control) टॉवर बनाया जा रहा है. इसके अलावा एयरपोर्ट के एयरसाईड सुविधाओं को भी बढ़ाया जा रहा है. उम्मीद की जा रही है कि निर्माण कार्य परियोजना के पूरा होने से रोजगार और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा.

इन सुविधाओं से लैश होगा नया टर्मिनल बिल्डिंग
951.28 करोड़ रुपये की लागत से बन रहे त्रिचुरापल्ली एयरपोर्ट में नए टर्मिनल बिल्डिंग में कई वैश्विक स्तर की सुविधाएं होंगी. मौजूदा टर्मिनल बिल्डिंग में यात्रियों की बढ़ रही संख्या को देखते हुए काफी दबाव है. नए टर्मिनल बिल्डिंग के बन जाने से पीक ऑवर में 2900 से अधिक यात्रियों को हैंडल किया जा सकेगा. इस नए टर्मिनल बिल्डिंग में 48 चेक इन काउंटर्स और 10 बोर्डिंग ब्रिज होंगे. नए टर्मिनल बिल्डिंग का डिजायन कुछ इस तरह तैयार किया जा रहा है कि ऊर्जा की खपत कम से कम होगी. 75 हजार वर्ग मीटर क्षेत्रफल में बन रहे इस टर्मिनल बिल्डिंग का लुक काफी आकर्षक और आइकोनिक होगा. टर्मिनल बिल्डिंग का इंटीरियर डिजायन में इस शहर का रंग और संस्कृति की छाप होगी. टर्मिनल बिल्डिंग की दीवारों में स्थानीय कलाकृति और ट्रेडिशनल आर्किटेक्चर का अंश भी उकेरा जाएगा. कावेरी नदी के किनारे बसे त्रिचुरापल्ली एयरपोर्ट आने और जाने वाले यात्री शहर की संस्कृति और कला को इस नए टर्मिनल बिल्डिंग में देख पाएंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया था शिलान्यासतमिलनाडु के तिरुपुर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 10 फरवरी 2019 को इस कार्य परियोजना का शिलान्यास किया था. डेढ साल में ही नए टर्मिनल बिल्डिंग का काम 40 फीसदी से अधिक पूरा हो गया है. निर्माण परियोजना में नया एप्रोन, टेक्सीवेज, आइसोलेशन बे, कंट्रोल रुम का निर्माण, इक्विपमेंट रुम, टर्मिनल राडार, राडार साइमूलेशन, ऑटोमेशन सुविधाएं, वीएचएफ, एएआई का ऑफिस और मेटरियोलॉजिकल ऑफिस बनाया जाएगा. इस परियोजना का निर्माण कार्य मार्च 2022 तक पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है.


Source link

Leave a Comment
Advertisement

This website uses cookies.